ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
वंदना सिंह
वंदना सिंह
1989 में मेरठ उत्तप्रदेश में जन्म। कंप्यूटर एनफो सिस्टम में मास्टर डिग्री। कविताएँ लिखती हैं। कविता-संग्रह "फिरता है मन तारा" प्रकाशित। सम्प्रति - मेरीलैंड में रहती हैं।

दरवाजे और खिड़कियाँ
दरवाज़े व्यवहारिक होते हैंऔर खिड़कियाँ भावुक।दरवाज़े सिर्फ समझते हैंसाँकल की बोलीकदमों की आहटें।खिड़कियाँ पहचानती हैंदबे पाँव पुरवाई काचुपके से अंदर आ जानासबेरे की किरणों काभीतर तक उतर जाना।परिंदों का राग
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 12.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^