btn_subscribeCC_LG.gif
उमेश ताम्बी
उमेश ताम्बी

जन्म, नागपुर के समीप तुमसर शहर में उद्योगी परिवार में हुआ. नागपुर विश्वविद्यालय से 1987 की प्रावीण्य सूची में अभियांत्रिकी स्नातक में प्रथम स्थान पाया, 1989 में एडमिनिस्ट्रेशन में स्नातकोत्तर. 1999 तक स्वयं के उद्योग-व्यवसाय में भारत में सफलता पाने के बाद अमेरिका पहुँचे. साफ्टवेयर के क्षेत्र में कार्यरत हैं. फिलाडेल्फिया के पास परिवार के साथ रहते हैं. हिंदी भाषा के प्रति अटूट प्रेम, बचपन से ही हास्य और व्यंग्य कविताओं के प्रति रुचि रही है. कुछ समय से अनुभव और विचारों को साहित्य और काव्य का रूप देने का प्रयास शुरू किया है.


त्रिशंकू
ना इधर के रहेना उधर के रहेबीच अधर अटके रहेना इंडिया को भूला सकेना अमेरिका को अपना सकेइंडियन-अमेरिकन बनके काम चलाते रहेना हिंदी को छोड़ सके ना अंग्रेजी को पकड़ सकेदेसी एक्सेंट में गोरों को कन्फ़ुस
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^