btn_subscribeCC_LG.gif
शैल अग्रवाल
शैल अग्रवाल

21 जनवरी 1947, को बनारस में जन्म। संस्कृत, अंग्रेजी व चित्रकला में स्नातक तथा अंग्रेजी साहित्य में एमए। भरत नाट्यम व सितार में प्रशिक्षण। 70 से अधिक देशों का भ्रमण। कविता संग्रह- समिधा, कहानी संग्रह- बसेरा तथा समकालीन लेख संग्रह- लंदन पाती प्रकाशित। रचनाएँ विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित तथा रेडियो और टेलीविजन पर प्रसारित। लक्ष्मीमल सिंघवी सम्मान, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान का "विदेश हिन्दी प्रचार-प्रसार सम्मान", हिन्दी समिति, लंदन का "हिन्दी सेवी सम्मान", प्रवासी मीडिया सम्मान, कमलेश्वर कथा सम्मान तथा साहित्य सारथी सम्मान से पुरस्कृत।


एक और सच
सामने औंधे मुँह पड़ी वह औरत बस हड्डियों का ढाँचा मात्र थी जो जरा भी हिलाने-डुलाने क्या, छूने तक से टूट सकती थी। सूखे फूल-सी झर सकती थी। मुझे यह सब तभी समझ लेना चाहिए था जब सुबह-सुबह, सात बजे, बारबरा का फोन आया था- "हमारी मदद करो। यहाँ क्राइसिस सेंट
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^