btn_subscribeCC_LG.gif btn_buynowCC_LG.gif

चाहत बोलती तस्वीर
01-May-2019 06:34 PM 2045     

चाहत

तू आना आधी रात को जब चांद चमकता हो
औ रजनीगंधा रातरानी फूल महकता हो
जो सारा जग सोया हुआ औ आसमां भी सोया
तू ऐसे में आना सनम अरमान तड़पता हो।

यूं सुनसानी रातों में जुगनू चमचमा रहा है
मैं मर ना जाऊं हाय जब दिल जोर धड़कता हो
है लब पे लब, कांधे झुकी जुल्फों की छांव तेरी
तो मधुशाला-सा जिस्म से हाला भी छलकता हो।

औ सांसों की खुशबू करे बेहाल दिल ये मेरा
तुझे पाने की चाहतों में दिल भी बहकता हो
जो मय के प्याले-सी शरबती हैं ये तेरी आंखें
मैं देखूं तुझको तो नशा चढ़ता औ उतरता हो।

है तू तो दरिया और मैं सागर हूं तेरी जान।
जो मिल जाओ तो प्रणय के बंधन में सहजता हो।


बोलती तस्वीर

कंगना बिछिया जोड़ा पायल, सब कुछ तो तैयार सजना
इंतज़ार अब और न होगा, कब तक आओगे कहना।

अंतस स्पंदन बढ़ा हुआ है, ख्वाबों से है सजी रात
नींद दृगों में तनिक नहीं है, करनी तुमसे ढेरों बात
कंगना की छन-छन से साजन, तुमको है नित ही रिझाना
इंतज़ार अब और न होगा, कब तक आओगे कहना।

मंजिल को मुकाम मिलेगा, नयी-नयी दुनिया होगी
छोटे-छोटे बच्चे होंगे, किलकारी गुंजन होगी
बिताये न बीते रैना, ख्वाबों का बेसब्र करना
इंतज़ार अब और न होगा, कब तक आओगे कहना।

सेहरा सूट पहन तुम आना, न करना तुम सजना देर
बनूं तेरी दुल्हन सजनवा, करना है सोलह श्रृंगार
प्रीत के रस में भींग-भींग, एक नई इबारत लिखना
इंतज़ार अब और न होगा, कब तक आओगे कहना।

लाल-लाल जोड़ा मैं पहनूं, मांग सिंदूर तुम्हीं से भराएंगे
हम तुम दोनों अब मिल जायेंगे एक नया संसार बनाएंगे
हसीन रात के हसीन ख्वाब और हर दिन हसीन करना
इंतज़ार अब और न होगा, कब तक आओगे कहना।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^