btn_subscribeCC_LG.gif
कादम्बरी मेहरा
कादम्बरी मेहरा
2 जून 1945 दिल्ली में जन्म। अंग्रेजी साहित्य में एम.ए., लंदन में पीजीसीई तथा गणित में स्नातक। प्रकाशित कृतियाँ : कहानी संग्रह- कुछ जग की, पथ के फूल, रंगों के उस पार। सम्प्रति - स्वतन्त्र लेखन।

वह लड़की और चीन का योंगे मंदिर
हम चीन गए। बेजिंग में चार दिन ठहरे। एक के बाद एक अपनी तालिका में दर्ज किये सभी दर्शनीय स्थल देख लिए। चीन की दीवार पर चढ़े। समर पैलेस, राजाओं की कब्रें, शाही महल, म्यूजियम, थेमअमन स्क्वेयर आदि देखा। नया स्टेडियम बना देखा। दी फोर्बिडन पैलेस जो अब चीन
इंग्लैंड के देहात
प्रागैतिहासिक मानव में "समूह ज्ञान" का संचार कृषि के विकास के कारण हुआ। जब तक पहिये और पहिये से चलनेवाली गाड़ियों का आविष्कार नहीं हुआ था, मानव जाति को भारी सामान ढोने के लिए समवेत श्रम की आवश्यकता पड़ती थी। ईंटों का आविष्कार भी नहीं हुआ था। घर बनान
हिंदी साहित्य में प्रवासीपन का फतवा
अंडा जब बाहर से फोड़ा जाता है तो एक हत्या बन जाता है, परन्तु जब वह अन्दर से फोड़ा जाता है तो एक सृजन! साहित्य सृजन भी ऐसी ही एक प्रक्रिया है। जो आतंरिक ऊर्जा पककर प्रस्फुटित होती है वह नव रचना है। विदेशों में बसे भारत से आये अनेकों प्रबुद्ध, संवेदनश
वह एक कमज़ोर औरत
            वह एक कमज़ोर औरत थी              जिसने बेटे को जीवनधन समझा         &n
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^