ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
संस्मरण Next
मैं अकेला नहीं

हमारी टोली में तीन-तीन प्रशिक्षणाधीन मजिस्ट्रेटों को जिला मुख्यालय पर जिला न्यायाधीश के पास तीन माह के प्रशिक्षणार्थ भेजा गया था। राजस्थान के उत्तर-पश्चिमी मरुभाग बीकानेर में मेरा प्रशिक्षणकाल वैसे

आध्यात्म इस लोक का

आमतौर पर जब भी आध्यात्म की बात चलती है तो उसे वैराग्य, धर्म और परलोक से जोड़कर देखा जाता है। अलग-अलग विद्वान इस शब्द का अपने-अपने सन्दर्भ के हिसाब से व्याख्यान करते है और वह आम लोगों की समझ से परे ह

अविस्मरणीय पड़ोसी

लम्बी अवधि से हम किसी से परिचित होकर भी कभी- कभी नितान्त अपरिचित ही रह जाते हैं किन्तु कभी- कभी हमारा अल्पकालीन परिचय भी शीघ्र ही आत्मीयता और घनिष्ठता में बदल जाता है। जब किसी व्यक्ति के गुण, स्वभा

वह लड़की और चीन का योंगे मंदिर

हम चीन गए। बेजिंग में चार दिन ठहरे। एक के बाद एक अपनी तालिका में दर्ज किये सभी दर्शनीय स्थल देख लिए। चीन की दीवार पर चढ़े। समर पैलेस, राजाओं की कब्रें, शाही महल, म्यूजियम, थेमअमन स्क्वेयर आदि देखा।

फिजी में रामायण मेला

भारत से लगभग बारह हजार किलोमीटर सुदूर पूर्व दिशा में बसे छोटे से फिजी द्वीप में, अक्तूबर 2016 में, पहला अन्तर्राष्ट्रीय रामायण सम्मेलन हुआ। यह सर्वविदित है कि हमारे देश से 1879-1916 के बीच लगभग साठ

एडिनबर्ग नहीं एडनबरा

विचार बना कि जब यॉर्क, यू.के. तक आ ही गये हैं तो दो दिनों के लिए ऐतिहासिक नगरी एडनबर्ग, स्कॉटलैंड भी हो आया जाया। इच्छा जाहिर करने पर सबसे पहले यह बताया गया कि इस शहर को लिखते एडनबर्ग हैं मगर कहते

ऐतिहासिक शहरों की रोमांचक यात्रा

सेंट लुइस मिसौरी प्रान्त में एक बहुत बड़ा और खूबसूरत शहर है जो की मिसिसिप्पी नदी के किनारे पर है। बहुत समय से इस शहर को देखने का मन था इसलिए हाल ही में वहां जाने का अच्छा अवसर मिला। कभी पहले किसी ने

रोमांचकारी नियाग्रा यात्रा
अमेरिका में रहकर भारत की ललक

भारतवंशी रहें कहीं भी दूर या पास, हृदय में बंशी भारत की ही बजती है। कितने भी सुख साधन उपलब्ध हों, दिल की हर धड़कन में नाम भारत का ही धड़कता है। दूर, सुदूर रहकर जब कोई अपना भारतवंशी मिलता है तो लगता ह

गावं हेईनार देस सूरीनाम

हालांकि केएलएम का जंबो जब पारामारिबू पर उतर रहा था तो आसमान में घने बादल थे। फिर भी उनके बीच से नीचे का सघन वन दिख जाता था। वह यूरोप के नगरों के बाहर लगाए गए वन जैसा पंक्तिबद्ध नहीं था। पानी गिरते

उष्ण कटिबन्ध के प्रवासी

संयोगवश करीब तेरह बरस पहले मुझे मॉरीशस जाने का अवसर मिला। हिन्द महासागर में अपनी थोड़ी सी जगह में फैले इस व्दीप पर भारतीय मूल के लोगों की बड़ी आबादी फ्रांसीसियों और अफ्रीकियों के साथ रहती है। अंग्रेज

स्मृतियों में कुम्भ मेला

सितबंर माह की गुलाबी ठंड का धीमे-धीमे आगमन हो रहा था जब कुम्भ में शामिल होने के लिये मैं मुम्बई से नासिक के लिये रवाना हुआ। नासिक से मुम्बई की दूरी लगभग २०० किलोमीटर की है किंतु चार-पांच घंटे की या

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 12.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^