ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
समीर लाल "समीर"
समीर लाल
1963 में जबलपुर में जन्म और वहीं शिक्षा, चार्टर्ड एकाउंटेंट। पेशे से बैंक में टेक्नोलॉजी सलाहकार एवं टेक्नोलॉजी पर अनेक लेख प्रकाशित। हिंदी से लगाव और कविता पढ़ने और लिखने का शौक। भारत, अमेरिका, कनाडा में अनेकों कवि सम्मेलनों में शिरकत। ब्लॉग- उड़न तश्तरी http://udantashtari.blogspot.com को श्रेष्ठ हिंदी ब्लॉग IndiBloggies Award.. तरकश स्वर्ण कमल से सम्मानित। किताब- "बिखरते मोती" प्रकाशित में। संप्रति : डेढ़ दशक से कनाडा में।

बेबी, खाना खा लिया?
जैसे हाउस वाइफ होती हैं, याने कि वो महिला जिसकी जिम्मेदारी घर संभालना रहती है। मसलन खाना बनाना, कपड़े धोना एवं घरेलू कार्य करना। वह कहीं काम पर नहीं जाती है। उस पर कमाने की जिम्मेदारी नहीं होती है। काम पर जाना और कमा कर लाना पति का काम होता है। समय
मन की हार और जीत!
क ल शाम पाँच बजे बेटे के घर से अपने घर जाने के लिए निकलने के पहले खिड़की से झाँक कर देखा तो हर तरफ एकदम अँधेरा एवं सड़कों पर सन्नाटा दिखा। सर्दियों की शाम वो भी शनिवार को। यही माहौल होता है यहाँ कनाडा में। अपनी कार घर के पास के स्टेशन पर
एडिनबर्ग नहीं एडनबरा
विचार बना कि जब यॉर्क, यू.के. तक आ ही गये हैं तो दो दिनों के लिए ऐतिहासिक नगरी एडनबर्ग, स्कॉटलैंड भी हो आया जाया। इच्छा जाहिर करने पर सबसे पहले यह बताया गया कि इस शहर को लिखते एडनबर्ग हैं मगर कहते एडनबरा हैं। मान गये और सीख लिया एडनबरा बोलना, ठीक
तरक्की की राह पर दौड़ने के आशय
यहाँ कनाडा में हम साल में दो बार समय के साथ छेड़छाड़ करते हैं जिसे डे लाईट सेविंग के नाम से जाना जाता है। एक तो मार्च के दूसरे रविवार को समय घड़ी में एक घंटा आगे बढ़ा देते हैं और नवम्बर के पहले रविवार को उसे एक घंटे पीछे कर देते हैं। ऐसा सूरज की रोशनी
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 15.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^