ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
सामयिक Next
लोकतंत्र और नौकरशाही
लोकतंत्र और नौकरशाही

लोकशाही और नौकरशाही को लेकर इस समय देश और प्रदेशों की सियासत गरमाई हुई है। दिल्ली में केजरीवाल बनाम एलजी की राजनीतिक लड़ाई जगजाहिर है। विभिन्न प्रदेशों में लोकशाही और नौकरशाही के बीच जंग छिड़ी हुई है ...

01-Apr-2018 02:30 AM 96
लॉन्ग मार्च का संदेश
लॉन्ग मार्च का संदेश

विगत माह अखिल भारतीय किसान सभा के नेतृत्व में किसानों का लॉन्ग मार्च महाराष्ट्र सरकार के लिखित आश्वासन के बाद खत्म हो गया। हाल के बरसों में पहली बार इस तरह के विशाल आंदोलन की समाप्ति बहुत शांतिपूर् ...

01-Apr-2018 02:24 AM 94
क्या जनसंख्या समस्या है?
क्या जनसंख्या समस्या है?

जनसंख्या नीति को बदलकर दो बच्चों तक सीमित करने के लिए एक संसद सदस्य ने लोकसभा में निजी विधेयक पेश किया है। दो से ज्यादा बच्चों के अभिभावकों पर चुनाव आदि सुविधाओं पर तुरंत प्रतिबन्ध लगाने की मांग भी ...

01-Mar-2018 02:10 PM 235
पुस्तक मेला
पुस्तक मेला

हम पुस्तक मेला देखि लीन
कुछ पर्ची बांटति बुद्धिमान
कुछ धरम धुरन्धर व्यापारी
कल्लू-कबीर सब एक भाव
रचना मा तनिकौ नहीं ताव
अपनी ढपली पर अपनि बीन
हम पुस्तक मेला देखि लीन।< ...

01-Feb-2018 09:53 AM 213
खयाली पुलाव
खयाली पुलाव

कभी सोचती हूँ कि एक किताब लिख लूँ। कम से कम इतना तो लिख ही लिया अब तक कि एक-दो पुस्तकें आसानी से छाप जाएँ। यकीन मानिए बहुत ज्यादा अनुभव नहीं है अभी लिखने का फिर भी किताब लिखने की समझ आ गयी है, ऐसा ...

01-Feb-2018 09:48 AM 197
बढ़ते उत्सव, सिकुड़ती किताबें
बढ़ते उत्सव, सिकुड़ती किताबें

लो जी फिर आ गया पुस्तक मेला! पिछले तीन बरस वर्ष से हर साल जनवरी में। पिछले कई वर्ष के चित्र दिमाग में छितरा रहे हैं। सर्दियों की गुनगुनी धूप में सुबह ग्यारह-बारह बजे प्रगति मैदान में प्रवेश करती भी ...

01-Feb-2018 09:44 AM 215
इन्सेफेलाइटिस से शिशुओं की मृत्यु
इन्सेफेलाइटिस से शिशुओं की मृत्यु

विगत दिनों उत्तरप्रदेश के गोरखपुर क्षेत्र में जापानी इन्सेफेलाइटिस (JE) से बच्चों की मृत्यु के प्रतिदिन मिलते रहे समाचारों ने विश्व भर को विचलित किया। अतः देश-विदेश में भारत की स्वतंत्रता की 70वीं ...

01-Nov-2017 03:47 PM 434
ज्ञान के मंदिरों का अनिश्चय
ज्ञान के मंदिरों का अनिश्चय

जलते सूरज को देखने के समान सच का सामना करने का साहस कितने लोगों में होता है। हर बात पर हम अपनी संस्कृति की बात करते हैं परन्तु भारत अपनी सांस्कृतिक धरोहर के लिए विश्व स्तर पर जाना-पहचाना ही जाता है ...

01-Sep-2017 03:23 PM 582
विश्वविद्यालयों के हिंदी विभाग वह सुबह कभी तो आएगी
विश्वविद्यालयों के हिंदी विभाग वह सुबह कभी तो आएगी

महाविद्यालय की चौहद्दी से निकलकर जब विद्यार्थी विश्वविद्यालय रूपी ज्ञानसागर में प्रवेश करते हैं तो वे उसमें डुबकियां लगाकर लाभान्वित होने की चाहत मन में छिपाए होते हैं जो बिल्कुल स्वाभाविक भी है ले ...

01-Sep-2017 03:15 PM 561
स्तरहीनता के दौर में उच्च शिक्षा
स्तरहीनता के दौर में उच्च शिक्षा

महाराष्ट्र का एक प्रसिद्ध विश्व विद्यालय इन दिनों परीक्षा परिणामों को घोषित न कर पाने के कारण बुरी तरह से विवादों के घेरे में है। "न भूतो" स्थितियों का सामना करने के बावजूद अभी तक न परीक्षा फल घोषि ...

01-Sep-2017 03:11 PM 589
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 10.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^