ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
रामानुज शर्मा
रामानुज शर्मा
जुलाई 1972 में खरगापुर, टीकमगढ़, मध्यप्रदेश में जन्म। बायोलॉजी में स्नातक, समाजशास्त्र में एम.ए. तथा बैंकिंग एवं फायनेंस ट्रैजरी में एम.बी.ए.। फॉरेन-एक्सचेंज के विशेषज्ञ। विभिन्न समाचार-पत्रों में खेल समीक्षक के तौर पर नियमित लेखन। सम्प्रति- बैंक ऑफ बड़ौदा, न्यूयॉर्क में चीफ मैनेजर ट्रैजरी ऑपरेशन के रूप में कार्यरत।

कवि-सम्मेलन बनाम वार्षिक मिलन समारोह
भारतवंशियों की युवा पीढ़ी परम्परागत संस्कृति और उसके आयोजन में रुचि नहीं लेती, इस धारणा को बदलना होगा। हमें युवाओं को आगे बढ़कर मंच पर सहभागिता के लिये प्रेरित करना होगा ताकि वे अपनी रचनात्मक अभिव्यक्ति को
भाषा की कशमकश
न्यूयॉर्क में प्रवासी भारतीयों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियाँ संचालित की जाती हैं। इसके लिये अलग-अलग नामों के तमाम संगठन काम कर रहे हैं, लेकिन इनके नामों की विविधता को छोड़ दिया जाये तो उनके उद्देश्य कमोबेश लगभग एक जैसे होते हैं।विगत दि
साहित्य पढ़ने की उम्र
यह विचार कई दिनों से मेरे मन में आ रहा था कि साहित्य पढ़ने की क्या उम्र होनी चाहिए एवं किस उम्र में किस तरह का साहित्य आप पढ़ सकते हैं। मुझे अपने बचपन की एक घटना याद आती है जब मैं 11वीं की गर्मियों की छुट्टियों में एक उपन्यास पढ़ रहा था। तभी मेरी बड़ी

विश्व हिन्दी दिवस का आयोजन सम्पन्न
बैंक ऑफ बड़ौदा, न्यूयार्क द्वारा अपने परिसर में विगत 20 जनवरी को "वि?ा हिन्दी दिवस' का आयोजन किया गया। न्यूयार्क में भारत के डिप्टी कौंसुल जनरल डॉ. मनोज कुमार मोहपात्रा समारोह के मुख्य अतिथि थे। कार्यक्रम में न्यूयार्क, न्यूजर्सी एवं पेनसिलवेनिया स
न्यूयार्क में भारतवंशी
न्यूयार्क में भारतीयों की संख्या लगभग सात लाख है। भारतीय यहां चीनियों के बाद दूसरे एशियन- अमेरिकन के रूप में रहते हैं। आप यहां भारतीयों को बड़ी आसानी से सबवे ट्रेन में आते-जाते, दुकानों में, बाजारों में पहचान सकते हैं, हां कभी-कभी पूछने पर पता चलता
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 12.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^