btn_subscribeCC_LG.gif
प्रीति गोविंदराज
प्रीति गोविंदराज

मलयालम भाषी परिवार में जन्म। बीएससी और एमएससी, नर्सिंग उपाधि में गोल्ड मैडल प्राप्त। साहित्य से गहरा लगाव। दो काव्य संग्रह और एक कथा-संग्रह प्रकाशित। उर्दू और अंग्रेजी में भी लिखती हैं। नृत्य, गायन और चित्रकला में अभिरुचि।


 लौटती चेतना अमानुष
लौटती चेतना उड़ जाएगा पुतलियों से निषाद निराशा प्रभाव न छोड़ पाएगीबोझल हृदय की ये स्थिति भला कब तक ठहर पाएगी? पलकों को मूँद कल्पना सजा हाथों में सिमटा जादू जागायदि पल भी बीते आशा-छाँव में तो यथार्थ म
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^