ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
प्राचीनतम भाषा और नवीनतम प्रौद्योगिकी
01-Jan-2016 12:00 AM 3133     

आस्ट्रेलिया में संस्कृत का अध्ययन पुराने साँचे को तोड़ देता है। ऑस्ट्रेलियन नेशनल युनिवर्सिटी के सह-प्राध्यापक मैकॉमास अपने पुरस्कृत संस्कृत प्रोग्राम के बारे में अपने अनुभव को इस तरह कहते हैं, वि?ा की प्राचीनतम भाषाओं में में से एक का वि?ा की नवीनतम प्रौद्योगिकी के जरिए अध्यापन करना अनोखी बात है। जबकि पश्चिमी देशों में संस्कृत शिक्षा में क्रमशः सिकुड़ाव आता जा रहा है यहाँ तक कि ये कार्यक्रम बन्द भी हो रहे हैं, दूसरी ओर ऑस्ट्रेलियन नेशनल युनिवर्सिटी में एक दशक पूर्व के छः छात्रों से बढ़कर औसतन चालीस छात्र प्रतिवर्ष हो गया है। ऐसा उन्होंने कैसे किया है? उनका उत्तर है, प्रोद्यौगिकी।
टेलर बताते हैं, हमने नब्बे के दशक के आखिरी सालों में सिडनी वि?ाविद्यालय के साथ लिंक कायम होने पर वीडियो कॉन्फरेंसिंग के माध्यम से संस्कृत अध्यापन का बीड़ा उठाया। उसके बाद जैसे-जैसे प्रोद्यौगिकी में उन्नति होती गई हमारे वि?ाविद्यालय ने संस्कृत की अपनी सामग्री का अधिकतर भाग ऑनलाइन कर दिया और वर्चुवल क्लास रूम संचालित करने के लिए वेब-कॉनफरेंसिंग पैकेजों का उपयोग किया। टेलर के अनुसार, वेब द्वारा सक्षम किया गया क्लास रूम स्काइप में वीडियो के सदृश होता है, लेकिन स्क्रीन पर एक व्यक्ति के बजाय इसमें 10-12 विद्यार्थियों का पूरा वर्ग भागीदारी और परस्पर के साथ अन्तर्क्रिया कर सकता है।
"जॉय ऑफ संस्कृत' नामक इलेक्ट्रॉनिक प्रकाशन का निर्माण संस्कृत शिक्षण शास्त्र में नवीनतम नवोन्मेष है। टेलर कहते हैं, प्रथम वर्ष के मेरे सारे व्याख्यान, वार्तालाप और साप्ताहिक श्लोक एक ही ई-पब में एक साथ पैकेज कर दिए गए हैं। इसका लाभ यह है कि अब विद्यार्थी ई-टेक्स्ट को डाउनलोड करने के बाद मोबाइल उपकरणों पर अध्ययन कर सकते हैं। उन्हें ऑनलाइन रहने की कोई बाध्यता नहीं है। इसके अलावे "जॉय ऑफ संस्कृत' एएनयू प्रेस की वेबसाइट ध्र्ड्ढडद्मत्द्यड्ढ ण्द्यद्यद्र:// द्रद्धड्ढद्मद्म.ठ्ठदद्व.ड्ढड्डद्व.ठ्ठद्व/द्यत्द्यथ्ड्ढद्म/ठ्ठदद्व-ड्ढद्यड्ढन्द्य/ द्यण्ड्ढ-त्र्दृन्र्-दृढ-द्मठ्ठदद्मत्त्द्धत्द्य/ पर मुक्त रूप से उपलब्ध है।
इस प्रोद्यौगिकी से पूरे ऑस्ट्रेलिया और सही मायनों में पूरी दुनिया के विद्यार्थी ऑस्ट्रेलियन नेशनल युनिवर्सिटी में वर्ग अध्ययन कर सकते हैं। टेलर ध्यान दिलाते हैं कि ऑस्ट्रेलिया जैसे विशाल और कम आबादी के देश में दूरस्थ शिक्षा का लम्बा इतिहास रहा है और दूरस्थ शिक्षण के पथ पर यह एक और युक्तिसंगत कदम है।
स्लोवेनिया, कैनेडा और सिंगापुर जैसे दूर-दूर के देशों के विद्यार्थी अब एक साथ वर्चुवल क्लास रूम में भाग ले सकते हैं। एक साथ क्लास में सुभाषितम् गाते हुए पूरे वि?ा भर के विद्यार्थियों से अधिक सुख मुझे और किसी चीज से नहीं मिलता... गर्वित शिक्षक ने कहा और मैं दुनिया का अकेला व्यक्ति हूँ जो भारत को संस्कृत का निर्यात करता है... उन्होंने अपने वक्तव्य में जोड़ा।
ऑस्ट्रेलियन नेशनल युनिवर्सिटी के संस्कृत कार्यक्रम की एक और विशिष्ट बात है कि देवताओं की भाषा जीवित परम्परा के रूप में पढ़ाई जाती है। हर सप्ताह विद्यार्थी न केवल संस्कृत पढ़ते और लिखते हैं, बल्कि साथ ही इस भाषा में गाते और वार्तालाप भी करते हैं। "हमारे अनेक छात्र हिन्दू परिवारों, बौद्ध परिवारों अथवा योग शिक्षक या पेशेवर होते हैं। उनके लिए संस्कृत उनकी दैनन्दिनी का भाग है, इसलिए उन्हें जीवित भाषा के रूप में इसकी शिक्षा देना सहज होता है।' टेलर, जो स्वयम् संस्कृत के वक्ता हैं, ने कहा।
पहला साल बुनियादी व्याकरण की पढ़ाई होती है, लेकिन दूसरे साल में विद्यार्थी महाभारत के नल की कहानी पढ़ते हैं। तीसरे साल कालिदास का मेघदूत की और एक बौद्ध पाठ अ?ाघोष की पढ़ाई होती है। अन्तिम साल विद्यार्थी ऋग्वेद के अंशों की पढ़ाई करते हैं और वे कामसूत्र से नागरिक की दिनचर्या के बारे में पढ़ते हैं।
संस्कृत का भविष्य क्या है? पश्चिम के लिए यह हमेशा ही खास अवसर पर उपयोग की जानेवाली ताक पर की भाषा रहेगी, लेकिन मैं इस प्रोग्राम को प्रसारित करना तब तक बन्द नहीं करूँगा जब तक मेरे पास कम से कम एक सौ विद्यार्थी न हो जाएँ। मेरा दीर्घकालीन लक्ष्य ऑस्ट्रेलियन नेशनल युनिवर्सिटी में संस्कृत के लिए एक बड़ा-सा मुक्त ऑनलाइन कोर्स शुरू करने का है। तब हमारे विद्यार्थियों की संख्या हजारों में होगी।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^