ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
मुद्दा Next
किताबों का बोझ कम करने के नाम पर
इतिहास की किताब का बोझ कम करने की दिशा में एनसीईआरटी ने दसवीं की कक्षा के इतिहास की किताब से तीन पाठ हटा दिए हैं। पहले यह पुस्तक 200 पेज की थी। अब 72 पेज हटा दिए गए हैं। पाठ्यपुस्तकों का बोझ कुछ तो कम हुआ ही होगा। गौरतलब हो कि 2017 में भी एनसीईआरट...
हिंदी में शोध, बिना बोध
देश के शीर्ष विश्वविद्यालय जेएनयू में होने व समकालीन विमर्शों में सक्रिय होने के कारण अक्सर इस तरह के ई-मेल और फोन आते हैं जिनमें सामने वाला कहता है, "मेरे भाई या मेरी पत्नी या मुझे पीएच.डी. करनी है। कोई विषय बता दीजिए।" कुछ फोन इस प्रकार के भी आत...
उच्च शिक्षा की चुनौतियाँ
भारत में शिक्षा को एक रामबाण औषधि के रूप में हर मर्ज की दवा मान लिया गया और उसके विस्तार की कोशिश शुरू हो गई बिना यह जाने बूझे कि इसके अनियंत्रित विस्तार के क्या परिणाम होंगे। सामाजिक परिवर्तन की मुहिम शुरू हुई और भारतीय समाज की प्रकृति को देशज दृ...
शिक्षा के माध्यम की भाषा
भा षा शिक्षण का क्षेत्र अनुप्रायोगिक है। इसमें विभिन्न विषयों के शिक्षण के लिए जिस भाषा का प्रयोग होता है, वह शिक्षा का माध्यम कहलाती है। शिक्षा का माध्यम अपनी मातृभाषा भी हो सकती है और दूसरी भाषा भी। इसलिए भाषा किसी-न-किसी उद्देश्य या प्रयोजन के ...
शिक्षा व्यवस्था के शेष प्रश्न
शिक्षा का प्रश्न इतना महत्वपूर्ण है कि सरकार कोई भी आये देश और समाज के हित में इससे बच नहीं सकती। एक खबिरया चैनल भी इन प्रश्नों से जूझ रहा है। कुछ वाजिव् चिताऐं भी सामने आयी हैं जिसमें सबसे ज्यादा तवज्जों इस बात को दी गयी है कि हजारों पद देश भर के...
प्रौद्योगिकी और शिक्षा के भारतीय संदर्भ
दुनियाभर में प्रौद्योगिकी न केवल जीवन का अभिन्न भाग हो चुका है, बल्कि उसके प्रेरक-चालक के रूप में जानी जाती है। प्रौद्योगिकी द्वारा पिछले पचास साल में जितना परिवर्तन-बदलाव हुआ है, उतना बदलाव पूर्व के सैकड़ों साल के दौरान में नहीं हुआ था। पश्चिम में...
समृद्धि व संगणक का भाषाई समीकरण
पिछले महीने मुझे आयआयटी पवई के एक विद्यार्थी समूह को संबोधित करना था। वे ग्रामीण इलाकों की समृद्धि के लिये कुछ करना चाहते हैं और हमारा विषय भी वही था - ग्रामीण प्रगति के रास्ते क्या-क्या हो सकते हैं। एक प्रश्न यह भी था कि वैश्विक बाजार में हम अपना...
भारतीय बाज़ार में सस्ते चीनी उत्पाद
दो देशों के बीच राजनीतिक और सांस्कृतिक संबंध के बाद सबसे महत्वपूर्ण होता है- व्यापारिक संबंध। भारत एवं चीन के मध्य दो हज़ार से भी ज्यादा समय से मजबूत व्यापारिक संबंध बना हुआ है, जो आज भी निर्बाध रूप से जारी है। वर्तमान में चीन भारत का सबसे बड़ा व्या...
इंकार का अधिकार अनारकली ऑफ आरा
गांव गिराव में एक कहावत चलती है, "गरीब की जोरू सबकी भौजाई", अर्थात् स्त्री की अपनी कोई अस्मिता या पहचान नहीं है। उसकी पहचान कूती जाती है इस बात से कि वह किसके संरक्षण या अधिकार में है। जितना शक्तिशाली संरक्षक उतनी ही मान मर्यादा की हकदार स्त्री। य...
हिन्दी और आंचलिक भाषाओं की सच्चाइ
भाषा वस्तुतः किसी भूभाग के जन की भावनाओं, जन की मनोदशा, जन के मूलभूत आचरण, जन की उच्चारण क्षमता तथा उच्चारण ग्राह्रता के सापेक्ष संप्रेषण की कुल शाब्दिक सुव्यवस्था का परिपालन हुआ करती है। इस परिप्रेक्ष्य में हिन्दी की वर्तमान दशा को समझना आवश्यक ह...
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 15.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^