btn_subscribeCC_LG.gif
प्रवासी का दर्द
01-Jan-2018 02:14 PM 2846     

प्रवासी एक सामाजिक प्रक्रिया है, इसे रोका नही जा सकता। देखा जाए तो दिल्ली भी प्रवासियों ने ही आबाद किया। पाकिस्तान से आए शरणार्थियों ने इसे सही मायने में आर्थिक रूप से समृद्ध बनाया। जब भारत एक देश है तो उसमें गैर इलाकाई प्रवासी कैसे हुए? मुम्बई में सभी लोगों के लिए समान अवसर थे, बाहर के लोगों ने आकर मुम्बई को आर्थिक राजधानी बनाया, अब वो प्रवासी हो गए? लेकिन तथाकथित राजनैतिक मराठी अस्मिता जैसे मुद्दों में अपनी राजनीतिक जमीन खोज रहे हैं, जहाँ उनको जमीन मिल गयी, फिर वो भी चुप बैठ जाएंगे। राजनीतिक बेरोजगारी बहुत बड़ी चीज होती है।
तस्वीर का एक दूसरा पहलू भी है, हर शहर के विकास की कुछ सीमाएं होती हैं। शहर की आबादी भी उसी अनुसार होनी चाहिए। जहाँ तक दिल्ली की बात है, दिल्ली एनसीआर क्षेत्र काफी विस्तृत हो चुका है, उसका विकास भी सही ढंग से नहीं हो पा रहा है, ऊपर से बढ़ती आबादी, आखिर कब तक मौजूदा इंफ़्रास्ट्रक्चर इस बढ़ते बोझ को सम्भालेगा। सरकार को विकास की नयी योजनाएं बनानी चाहिए और उन पर ईमानदारी से अमल करना चाहिए। तभी इन समस्याओं से निजात मिलेगी।
दूसरी तरफ़ गाँवों से शहरों की ओर पलायन अभी भी नहीं रुक रहा। गाँव देहात में रोजगार के अवसर बढ़ नहीं रहे, यही मूल समस्या है। इसका समाधान किया जाना है।
मैं भी एक प्रवासी हूँ, दूसरे देश कुवैत में रहता हूँ, एक प्रवासी का दर्द समझता हूँ। आज भी तीज त्योहारों में अपना घर, अपना शहर याद आता है। उन्हीं यादों के साये में कागद कारे करता हूँ। हम जब अपने देश भारत जाते हैं तो लोग नॉन रिलायबल इंडियन (या ग़्दृद्य ङड्ढद्दद्वत्द्धड्ढड्ड क्ष्दड्डत्ठ्ठदद्म) समझते हैं, विदेश में भले ही वहाँ के लोग पेशेवरों को इज्जत दें, लेकिन समझते तो बाहर वाला ही हैं। हम तो दोनों जगह ही मन से नहीं स्वीकारे जाते।
यहाँ पर कई-कई बार तो बाहर के लोगों को हटाकर स्थानीय लोगों को रखने की बात चली, हर बार लगता था अबकी बार तो नौकरी पक्का जाएगी। लेकिन हर बार तकनीकी लोगों को छोड़ दिया जाता है। देखो कब तक चलता है ऐसा। खैर अपने दर्द अपने हैं। बदलते वक्त के साथ इनको झेलने की क्षमता भी बढ़ गयी है। आप भी किसी ऐसी स्थिति से दो चार हुए होंगे।
बाकी भारत के नागरिक, अपने ही देश मे प्रवासी कैसे हुए? लगता है प्रवासी की परिभाषाएं बदलने लगी हैं।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^