ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
मानोशी चटर्जी
मानोशी चटर्जी
कोरबा, छत्तीसगढ़ में जन्म। रसायन विज्ञान में स्नातकोत्तर तथा बी.एड.। उन्मेष - काव्य संग्रह प्रकाशित। रचनाएँ विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। पं. विष्णु दिगम्बर पलुस्कर महाविद्यालय से संगीत विशारद, आकाशवाणी से ग़ज़लों का प्रसारण।
कनाडा में शिक्षिका।, ,
क्या खोया क्या पाया पतझड़ की पगलाई धूप
01-Mar-2017 11:39 PM 478 क्या खोया क्या पाया  पतझड़ की पगलाई धूप

क्या खोया क्या पाया

अनगिन तारों में इक तारा ढूँढ रहा है,
क्या खोया क्या पाया
बैठा सोच रहा मन।
 
छोटा-सा सुख मुट्ठी से गिर
फिसल गया,
खुशियों का दल हाथ

NEWSFLASH

हिंदी के प्रचार-प्रसार का स्वयंसेवी मिशन। "गर्भनाल" का वितरण निःशुल्क किया जाता है। अनेक मददगारों की तरह आप भी इसे सहयोग करे।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal | Yellow Loop | SysNano Infotech | Structured Data Test ^