ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
मन की बात Next
मेरी पसंदीदा हिन्दी फिल्में
मेरी पसंदीदा हिन्दी फिल्में

यहाँ से पचास-पचास कोस दूर गाँव में जब बच्चा रात को रोता है, तो माँ कहती है बेटे सो जा, सो जा नहीं तो गब्बर सिंह आ जाएगा। शोले फिल्म का ये संवाद आज भी लोगों की जुबान पर तरोताज़ा है। यह कहना अतिशयोक्त ...

01-May-2017 06:44 PM 508
कुछ बेमिसाल फ़िल्में
कुछ बेमिसाल फ़िल्में

फ़िल्में मनोरंजन करती हैं हमें हंसाती हैं रुलाती हैं पर काफी कुछ बता जाती हैं और बहुत कुछ सिखा भी जाती हैं। वैसे तो भारत में दुनिया में सबसे ज्यादा फ़िल्में बनती हैं। हर साल फ़िल्में आती जाती रहती हैं ...

01-May-2017 06:37 PM 388
हिंदी फिल्मों के विविध आयाम
हिंदी फिल्मों के विविध आयाम

दुनिया में भारत की पहचान जहां भारतीय संस्कृति एवं कठिन परिश्रम को लेकर होती है। वहीं विश्व में हिंदी सिनेमा यानी बॉलीवुड को भी खूब सराहा जाता है। हिंदी सिनेमा ने भारतीय संस्कृति को विश्व में भलीभां ...

01-May-2017 02:17 PM 389
हिंदी सिनेमा देश विदेश में
हिंदी सिनेमा देश विदेश में

रोटी, कपड़ा, मकान के बाद अगर भारत में आम आदमी के जीवन में किसी बात का बड़ा स्थान है तो वो है फिल्में! या कहें की दूसरी तरफ भारत  का सॉफ्ट पावर है यहां का सिनेमा। कम शौकीन भी कम से कम प्रसिद्ध फि ...

01-May-2017 02:13 PM 363
सरोकारों से दूर होता सिनेमा
सरोकारों से दूर होता सिनेमा

भरत मुनि ने नाटक को काव्य अर्थात साहित्य की सभी विधाओं में सर्वश्रेष्ठ माना है क्योंकि इसमें नृत्य, संगीत, अभिनय, संवाद, दृश्य आदि चेतना को प्रभावित करने वाले सभी उपादानों का समावेश होता है। उसी की ...

01-May-2017 02:10 PM 331
फिल्में क्यों बनाई जाएँ
फिल्में क्यों बनाई जाएँ

अपने शुरूआती दौर से ही सिनेमा आम आदमी को सपनों की दुनिया में ले जाने का सस्ता, सुलभ साधन रहा है। मनोरंजन के अन्य साधनों की तुलना में सिनेमा अधिक लोकप्रिय भी है। भारत में सिनेमा के आरम्भिक काल में ध ...

01-May-2017 02:07 PM 370
सिनेमा की मेरी की दुनिया
सिनेमा की मेरी की दुनिया

एक बार मैं ऑफिस में अपने हमवतन से "मोगाम्बो खुश हुआ" संवाद पर कुछ बात कर रही थी। तभी मेरे नैरोबी में रहने वाले दोस्त ने मिस्टर इंडिया का नाम लिया। मुझे आश्चर्यचकित देख कर उन्होंने बताया कि अफ्रीका ...

01-May-2017 02:02 PM 453
फ़िलमियाँ बुखार
फ़िलमियाँ बुखार

मुझमें फ़िल्मी बुखार के कीटाणु विरासत में मौजूद कब पाए गए, ख़बर नहीं।
हाँ, इतना तो था कि हम बड़ों से आँख छिपाकर फ़िल्मी स्टाइल में ज़ुल्फें,
नुक्कें निकालते और बनते सँवरते। इस तरह पनाह दिए फ़ ...

01-May-2017 01:59 PM 665
सपने न हों तो क्या कीजे
सपने न हों तो क्या कीजे

मेरा सौभाग्य कहिए कि दुर्भाग्य कि हिन्दी फ़िल्मों का मेरे जीवन पर विशेष प्रभाव रहा है। भारतीय संस्कृति क्या है, मेरा इसमें क्या किरदार है, यह मुझे हिन्दी फ़िल्मों ने ही सिखाया है। राखी, होली, दीवाली ...

01-May-2017 01:56 PM 794
प्रवासी भारतीय दिवस एक सामयिक चेतना
प्रवासी भारतीय दिवस एक सामयिक चेतना

भारतीय मूल के लोग बड़ी संख्या में कई दशकों से विदेशों में बसे हुए हैं और उन्होंने प्रत्येक क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। जिसमें व्यवसाय, शिक्षा, नौकरी, वैज्ञानिक एवं तकनीकी सन्दर्भ शामिल है ...

01-Jan-2017 11:57 PM 1646
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal | Yellow Loop | SysNano Infotech | Structured Data Test ^