btn_subscribeCC_LG.gif
डॉ. सुरेश राय
डॉ. सुरेश राय

जन्म महडौर, जिला गाजीपुर। बनारस हिन्दू वि·ाविद्यालय, रुड़की वि·ाविद्यालय तथा कुरूक्षेत्र वि·ाविद्यालय से इलेक्ट्रॅनिक्स इंजीनियरिंग में क्रम¶ा: स्नातक, स्नातकोत्तर एवं आचार्य की उपाधि। अमेरिका में 1986 से कार्यरत। कविता और कहानी लेखन में रुचि। प्रका¶िात कविता संग्रह- "अनुभूति के दो स्वर' में एक स्वर स्वर्गीय जयन्ती राय (पत्नी) तथा दूसरा स्वर सुरे¶ा का। अमेरिका से प्रका¶िात हिन्दी पत्रिका "वि¶व-विवेक' का कई वर्षों तक सह-सम्पादन भी किया। सम्प्रति : लुजियाना स्टेट वि·ाविद्यालय, बैटनरूज के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग में प्रोफेसर।


छाँटा हुआ पेड़
भारत में दो तरह के पेड़ आमतौर पर दिखलाई पड़ते हैं - हरा-भरा अथवा ठूँठ पेड़, बिल्कुल कम्पूटर के द्विआधारी गणित की तरह। मुझे अति प्रसन्नता हुई होती जब कोई भारतीय वैज्ञानिक दशमलव प्रणाली की तरह इन पेड़ों को परखकर द्विआधारी गणित की आधारशिला भूत में कभी रख
समाधि-दर्शन : बिन्दु-बिन्दु विचार
हिन्दू-दर्शन में कपिल मुनि सांख्ययोग (ज्ञानयोग) के प्रवर्तक माने जाते हैं और पतंजलि योग-सूत्र (राजयोग) के। सांख्य-दर्शन के अनुसार (1) दैहिक, (2) भौतिक, तथा (3) दैविक दु:खों (क्लेशों) का निवारण किया जा सकता, परन्तु इसके लिये सही ज्ञान की प्राप्ति क
त्रिलोक-परम्परा : एक दृष्टिकोण
अथर्ववेद, श्रीमद्भागवत तथा पुराण में त्रिलोक-परम्परा यानि कि तीन विश्व यथा भूलोक, पाताल और देवलोक की व्यापक रूप से चर्चा हुयी है। गायत्री महामंत्र की तीन व्याहृतियों भू: (पार्थिव जगत), भुव: (प्राणमय जगत) एवं स्व: (मनोमय जगत) में इस त्रिक के विस्ता
कबीर की उलटबांसी
मसि कागज छूवो नहीं, कलम गही नहिं हाथ, के बावजूद कबीरदास का नाम हिंदी भक्त कवियों में बहुत ऊँचा है। वे सच्चे अर्थों में समाज-सुधारक तथा युग पुरुष थे। कबीर निर्गुण भक्ति धारा की ज्ञानमार्गी ¶ााखा में सर्वोपरि माने जाते हैं। उनके जन्म के सम्बन्ध
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^