btn_subscribeCC_LG.gif
डॉ. ओम निश्चल
डॉ. ओम निश्चल

15 दिसंबर 1958 को ग्राम-हर्षपुर, जिला-प्रतापगढ़, उत्तरप्रदेश में जन्म। हिंदी एवं संस्कृत में एम.ए., पीएच-डी, पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा। प्रकाशित कृतियाँ : कविता संग्रह- शब्द सक्रिय हैं, आलोचना- द्वारिकाप्रसाद माहेश्वरी : सृजन और मूल्यांकन, साठोत्तरी हिंदी कविता में विचारतत्व, कविता का स्थापत्य, शब्दों से गपशप, भाषा में बह आई फूलमालाएँ: युवा कविता के कुछ रूपाकार। संपादन- द्वारिकाप्रसाद माहेश्वरी रचनावली (तीन खंडों में), अधुनांतिक बांग्ला कविता (समीर रायचौधुरी के साथ), तत्सम शब्दकोश, विश्वनाथ प्रसाद तिवारी : साहित्य का स्वाधीन विवेक, जियो उस प्यार में जो मैंने तुम्हें दिया है : अज्ञेय की प्रेम कविताएँ। कुंवर नारायण पर आलोचनात्मक निबंधों की दो खंडों की पुस्तक "अन्वय" एवं "अन्विति" व धूमिल के व्यक्तित्व-कृतित्व पर "हमारे समय में धूमिल" पुस्तक का संपादन। अशोक वाजपेयी, लीलाधर मंडलोई, केदारनाथ अग्रवाल एवं मलय की कविताओं का चयन एवं संपादन। हिंदी अकादमी, दिल्ली से कविता के लिए तथा उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान से "शब्दों से गपशप" पर आचार्य रामचंद्र शुक्ल आलोचना पुरस्कार से सम्मानित।


हिंदी पर अंग्रेजी की प्रेत छाया
संविधान के भाग 17 के चार अध्यायों एवं भाग 5 व 6 के तहत क्रमश: नौ एवं एक-एक अनुच्छेद में राजभाषा के संबंध में व्यवस्थाएं दी गयी हैं। ये अनुच्छेद संघ की भाषा, प्रादेशिक भाषाओं, उच्चतम न्यायालय, उच्च न्यायालयों आदि की भाषा, हिंदी के संबंध में विशेष न
हिंदी की कठिनाई, भाषा की नहीं
कठिन हिंदी बनाम सरल हिंदी का प्रश्न कोई नया नहीं है। पिछले दशकों में यह सवाल सभा-संगोष्ठियों में बार-बार उठाया जाता रहा है। हिंदी की एक व्यावसायिक पत्रिका भी एक समय अपने पन्नों पर कठिन हिंदी-गद्य के नमूनों को "यह किस देश-प्रदेश की भाषा है" शीर्षक
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^