ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
देवशंकर नवीन
देवशंकर नवीन
2 अगस्त 1962 को जन्म। एम.ए., पी-एच.डी. (हिन्दी, मैथिली), एम.एस-सी. (भौतिकी), पुस्तक प्रकाशन, अनुवाद में पी.जी. डिप्लोमा। मैथिली एवं हिन्दी में मूल तथा सम्पादित लगभग तीन दर्जन पुस्तकें प्रकाशित। अंग्रेजी सहित कई अन्य भारतीय भाषाओं में रचनाएँ अनूदित।
ईमेल : ड्डड्ढदृद्मण्ठ्ठदत्त्ठ्ठद्धऋण्दृद्यथ्र्ठ्ठत्थ्.ड़दृथ्र् छह वर्षों तक जी.एल.ए. कॉलेज, डालटनगंज, सोलह वर्षों तक नेशनल बुक ट्रस्ट, इण्डिया, और पांच वर्षों तक इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय से सम्बद्ध रहने के बाद सम्प्रति जवहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली के भारतीय भाषा केन्द्र में प्रोफेसर पद पर कार्यरत हैं। भारतीय भाषा केन्द्र, जवहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, New Delhi, India
अब फिर एक नवजागरण हा
01-Feb-2016 12:00 AM 154 अब फिर एक नवजागरण हा

उन्नीसवीं शताब्दी के आरम्भ से भारत के नवशिक्षित बौद्धिकों में एक नई चेतना का उदय हुआ जिसके अग्रदूत राजा राममोहन राय माने जाते हैं। इस चेतना को यूरोप के रिनेसाँस के वजन पर अपने देश में ही पुनर्जागरण

NEWSFLASH

हिंदी के प्रचार-प्रसार का स्वयंसेवी मिशन। "गर्भनाल" का वितरण निःशुल्क किया जाता है। अनेक मददगारों की तरह आप भी इसे सहयोग करे।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal | Yellow Loop | SysNano Infotech | Structured Data Test ^