ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
ARCHIVE
LATEST Next

पचमढ़ी : एक शब्द चित्र
01-Mar-2017 11:56 PM 494 पचमढ़ी : एक शब्द चित्र

विन्ध्य की अंतिम हद को छूकर बहती,
पवित्र नर्मदा की अथाह जलराशि के पार,
सतपुड़ा की सुरम्य पहाड़ियों पर,
प्रकृति की अलौकिक छटाओं के बीच बसी-
सलोनी पचमढ़ी!

घुमावदार पहाड़ी र ...

हिंदी भाषा अपनी बोली
01-Mar-2017 11:53 PM 487 हिंदी भाषा  अपनी बोली

हिंदी भाषा

गूँजे हिंदी भाषा मन में
मुरली बजे ज्यों वृंदावन में

हिंदी भाषा के मतवाले
इसको तन-मन से सुनते हैं
इसके सारे भक्त निराले
इसके सपने ही बुनते ह ...

रिश्ते
01-Mar-2017 11:49 PM 485 रिश्ते

रिश्तों की रंग-बिरंगी कतरनें
रखी हैं संजो कर मैंने।
ये रिश्ते आम हैं, कोई खास नहीं
इनके बनाने-बिगड़ने पर मेरा जोर नहीं।

इन नज़ाकत रिश्तों की
हिफ़ाज़त करो, तो सब है
...

एक दो
01-Mar-2017 11:44 PM 482 एक दो

एक
नया रूप धरके खनकाती कंगना
रुनझुन बजाती रुपहली पायलिया
मुस्कान होठों पर सजा कर मोहनिया

जवाँ नूर चेहरे पर है दमकता
आती है सज-धज के दूर ही से लुभाती
अकेले मे ...


क्या खोया क्या पाया पतझड़ की पगलाई धूप
01-Mar-2017 11:39 PM 484 क्या खोया क्या पाया  पतझड़ की पगलाई धूप

क्या खोया क्या पाया

अनगिन तारों में इक तारा ढूँढ रहा है,
क्या खोया क्या पाया
बैठा सोच रहा मन।
 
छोटा-सा सुख मुट्ठी से गिर
फिसल गया,
खुशियों का दल हाथ ...

नागोबा डुलाय लागला...
01-Mar-2017 11:36 PM 483 नागोबा डुलाय लागला...

बिल्कुल वही है। खाल के ऊपर रेंगता है। वही है। मैं भी तो वही हूँ। बैठा भी वहीं हूँ आज तक। तुम जबसे गयीं, निपट अकेला हूँ। वही शनिवार, वही तीसरा पहर, वही अड्डा, वही बेंच। वही आवाज़ें : तिकीट, तिकीट, ति ...

बर्लिन में भारतीय राजदूत श्री गुरजीत सिंह से शिक्षाविद् डॉ. राम प्रसाद भट्ट की बातचीत
01-Mar-2017 09:03 PM 480 बर्लिन में भारतीय राजदूत श्री गुरजीत सिंह से शिक्षाविद् डॉ. राम प्रसाद भट्ट की बातचीत

बर्लिन में भारत के राजदूत श्री गुरजीत सिंह 1980 से भारतीय विदेश विभाग में कार्यरत हैं। आपने मेयो कॉलेज अजमेर, ज़ेवियर कॉलेज, कोलकत्ता और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली से शिक्षा प्राप्त की। जे ...

कल-कल निनाद
01-Mar-2017 08:58 PM 482 कल-कल निनाद

आज बात मैं "कल" की करना चाह रहा था। अब आप पूछेंगे, कौन से कल की? जी हाँ, समय से संदर्भित "कल" दो प्रकार के होते हैं। क कल जो बीत गया और एक कल जो आने वाला है। जब तक पूरी बात न कह दें आप समझ ही नहीं ...


बाज़ार से गुज़रा हूँ
01-Mar-2017 08:44 PM 482 बाज़ार से गुज़रा हूँ

जी सरकार, हमारे जैसे बिंदास बशर दुनिया में रहते तो हैं लेकिन उसके तलबगार नहीं होते। अकबर इलाहाबादी की तरह हम भी बाज़ार से गुज़रते हैं, मगर ख़रीदार भी हों ये ज़रूरी नहीं। अब भले ही हम असली ख़रीदार ना हों ...

वाल्मीकि रामायण : आधुनिक विमर्श-15पञ्चवटी
01-Mar-2017 08:41 PM 480 वाल्मीकि रामायण : आधुनिक विमर्श-15पञ्चवटी

चारू चन्द्र की चंचल किरणें, खेल रही है जल थल में, स्वच्छ चाँदनी बिछी हुई थी अवनि और अंबर तल में - राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त यह लिखकर अमर हो गये। पञ्चवटी की शुरुआत हुई वाल्मीकि से। वाल्मीकि के भौगो ...

ज्ञान का अद्भुत भंडार
01-Mar-2017 08:38 PM 479 ज्ञान का अद्भुत भंडार

पुस्तकालय की आदत बचपन में मम्मी-पापा ने लगायी थी। तब इतनी समझ नहीं थी। छोटी-छोटी किताबें जैसे चम्पक, चकमक पढ़कर और लकड़ी के हाथी, घोड़ा खिलौने खेलकर आ जाया करते थे एकलव्य जैसी शहर की लाइब्रेरी से। पर ...

लोक मतलब सामूहिकता और समानता
01-Mar-2017 08:34 PM 481 लोक मतलब सामूहिकता और समानता

सन् दो हजार में पहली बार अमरीका जाना हुआ। अमरीकी राज्य ज्योर्जिया की राजधानी अटलांटा की धरती पर पाँव रखते ही एक रोमांच-सा हुआ। 1965 में अमरीका में गोरे अमरीकियों के गुलाम रह चुके अफ़्रीकी मूल की नीग ...


मूक दर्द की चीत्कार का लोककवि छज्जुलाल सिलाणा
01-Mar-2017 08:27 PM 481 मूक दर्द की चीत्कार का लोककवि छज्जुलाल सिलाणा

त्रोता युग म्हं शंबूक संग घणा, मोटा जुल्म कमाया था
रैदास, कबीर, भक्त चेता पै जाति आरोप लगाया था
गुरु वाल्मीक, सबरी भीलणी नैं चमत्कार दिखलाया था
कांशी म्हं कालिया भंगी ने हरिचंद का धर ...

चीन के स्स चुआन प्रान्त के लोकगीत खानतिंग का हिंदी अनुवाद
01-Mar-2017 08:24 PM 480 चीन के स्स चुआन प्रान्त के लोकगीत खानतिंग का हिंदी अनुवाद

इस गीत का यह नाम खानतिंग शहर से रखा गया है। बहुत ही सुरीला ओर मीठा गीत होने के कारण बरबस ही दिल को छू लेता है। यह लोकगीत चीन के स्स छुआन प्रान्त का है। यह न केवल स्स छुआन में बल्कि पूरे  चीन म ...

जाकोमो दा लेनतीनी की दो सॉनेट कविताओं का इतालवी से हिन्दी अनुवाद
01-Mar-2017 08:15 PM 479 जाकोमो दा लेनतीनी की दो सॉनेट कविताओं का इतालवी से हिन्दी अनुवाद

कविता की सॉनेट शैली का लेखन सबसे पहले दक्षिण इटली के सिसली द्वीप में तेरहवीं शताब्दी में हुआ। इसके सबसे पहले प्रयोग का श्रेय पूर्वी सिसली के लेनतीनी शहर में सन् 1210 में जन्में इतालवी कवि जाकोमो दा ...

पंजाब की लोक-कविता
01-Mar-2017 08:08 PM 484 पंजाब की लोक-कविता

लोकगीत उन्मुक्त मन की भाव लहरिया हैं और सामाजिक परम्पराओं के लयात्मक शब्द चित्र भी। इनमें व्यक्ति मन के मूक वेदना-उल्लास भी है और समाज की रीतियों-कुरीतियों का समर्थन-विद्रोह भी। लोकगीत कुंठामुक्त स ...


लोक का आँगन
01-Mar-2017 08:03 PM 482 लोक का आँगन

लोक अनंत भी है और आँगन भी। वह अनन्त को आँगन में उतार लेता है और घर के आँगन से ही अनंत की यात्रा करता है। लोक में ही यह शक्ति है कि वह आवाहन न जानते हुये भी सारे देवताओं को एक छोटा-सा चौक पूरकर उसमे ...

लोक-बोली के निहितार्थ
01-Mar-2017 07:58 PM 478 लोक-बोली के निहितार्थ

भारत में लोक शब्द बहुअर्थी है। यहां की पुराण कथाओं में चौदह लोकों की परिकल्पना की गई है। जिनमें पृथ्वी, आकाश और पाताल लोक भी शामिल हैं। लोक का एक अर्थ उस व्यापक बहुरंगी जीवन से भी है जिसकी सदियों प ...

तुम साथ हो तो घर की कमी फिर नहीं खलती
01-Mar-2017 12:11 AM 493 तुम साथ हो तो घर की कमी फिर नहीं खलती

कविता एक कोशिश करती है जीवन का चित्र बनाने की। अवनीश कुमार की किताब पत्तों पर पाजेब ऐसी ही एक कोशिश है। आजकल ग़ज़लें थोक के भाव लिखी जा रही हैं और छप भी रही हैं। अमूमन हरेक पत्रिका में एक आध ग़ज़ल का प ...

क्यूँ मुझे बार-बार दिखता है उसकी आँखों में प्यार दिखता है
01-Mar-2017 12:01 AM 481 क्यूँ मुझे बार-बार दिखता है  उसकी आँखों में प्यार दिखता है

एक

क्यूँ मुझे बार-बार दिखता है
उसकी आँखों में प्यार दिखता है

उसको पाने की चाह में देखो
हर कोई बेक़रार दिखता है

क्या छुपाता है मेरी नज़रों से
अब मुझे ...


मैं उस जगह हूँ जहाँ फासला रहे तुमसे
01-Feb-2017 01:02 AM 641 मैं उस जगह हूँ जहाँ फासला रहे तुमसे

जयपुर के लोकायत प्रकाशन पर जिस किताब पर मेरी नज़र पड़ी, वह थी आवाज़ चली आती है। इस नायाब किताब के शायर हैं मरहूम जनाब शाज़ तमकनत साहब। हिंदी पाठकों के लिए शायद ये नाम अंजाना हो लेकिन दकन में इनका नाम ब ...

पलाश शिरीष के फूल
01-Feb-2017 12:57 AM 761 पलाश शिरीष के फूल

पलाश

झूम रहे हैं पलाश
हौले-हौले
ओढ़ ओढ़नी
नुपुर बजाते खवाबों के
खिल गये हैं
पलाश

मौसम के आँगन में
अहसास के परिंदों पर
सु ...

मेरी कविता
01-Feb-2017 12:52 AM 684 मेरी कविता

गाय को गुड़
चिड़िया को दाना
भूखे की रोटी है कविता
सूरदास की आंख
जटायू पांख है कविता
कभी खेत की फसल
वीरों की नस्ल है कविता

पर आज उदास है मेरी कविता
बाजा ...

मूक दीवारें मोह के धागे
01-Feb-2017 12:48 AM 656 मूक दीवारें मोह के धागे

मूक दीवारें

जिंदगी की चहक कुछ और ही होती
काश दीवारें सुनने के साथ
कुछ कह भी सकतीं
जमाना जान जाता
भीतर उमड़ते
उस ज्वालामुखी का आक्रोश
कई रा ...

LATEST Next
आवरण (71)
दूर-देशों के भारतवंंशी गिरमिटिया
01-Nov-2016 12:00 AM 2136
दूर-देशों के भारतवंंशी गिरमिटिया

यह मानव का नैसर्गिक स्वभाव है कि वह जोखिम भरे कामों को आगे बढ़कर उत्साहपूर्वक करता है। जब मानव को .. >>

फ़ीजी के भारतवंशी
01-Nov-2016 12:00 AM 2162
फ़ीजी के भारतवंशी

प्रथम प्रवासी भारतीय श्रमिक के फीजी में अपना पग रखते ही हिंदी का प्रवेश यहाँ हो गया था। क्योंकि अ .. >>

अस्मिता के संघर्षशील सिपाही
01-Nov-2016 12:00 AM 2132
अस्मिता के संघर्षशील सिपाही

सन् 1498 में 31 जुलाई की दोपहर समुद्र में अपनी यात्रा के दौरान किसी जमीन की तलाश में हताश कोलंबस .. >>

कविता (50)
पचमढ़ी : एक शब्द चित्र
01-Mar-2017 11:56 PM 494
पचमढ़ी : एक शब्द चित्र

विन्ध्य की अंतिम हद को छूकर बहती,
पवित्र नर्मदा की अथाह जलराशि के पार,
सतपुड़ा की सुरम्य .. >>

हिंदी भाषा अपनी बोली
01-Mar-2017 11:53 PM 487
हिंदी भाषा  अपनी बोली

हिंदी भाषा

गूँजे हिंदी भाषा मन में
मुरली बजे ज्यों वृंदावन में

हिंदी .. >>

रिश्ते
01-Mar-2017 11:49 PM 485
रिश्ते

रिश्तों की रंग-बिरंगी कतरनें
रखी हैं संजो कर मैंने।
ये रिश्ते आम हैं, कोई खास नहीं
.. >>

मन की बात (18)
प्रवासी भारतीय दिवस एक सामयिक चेतना
01-Jan-2017 11:57 PM 1264
प्रवासी भारतीय दिवस एक सामयिक चेतना

भारतीय मूल के लोग बड़ी संख्या में कई दशकों से विदेशों में बसे हुए हैं और उन्होंने प्रत्येक क्षेत्र .. >>

हिंदी प्रवासी साहित्य से अपेक्षाएँ
01-Jan-2017 12:17 AM 1259
हिंदी प्रवासी साहित्य से अपेक्षाएँ

भारत से प्रवास पर जाने का कार्य सदैव होता रहा है। आवागमन के साधनों ने इस प्रक्रिया में और तेजी ला .. >>

हिंदी साहित्य में प्रवासीपन का फतवा
01-Jan-2017 12:14 AM 1256
हिंदी साहित्य में प्रवासीपन का फतवा

अंडा जब बाहर से फोड़ा जाता है तो एक हत्या बन जाता है, परन्तु जब वह अन्दर से फोड़ा जाता है तो एक सृज .. >>

रम्य रचना (18)
कल-कल निनाद
01-Mar-2017 08:58 PM 482
कल-कल निनाद

आज बात मैं "कल" की करना चाह रहा था। अब आप पूछेंगे, कौन से कल की? जी हाँ, समय से संदर्भित "कल" दो .. >>

बाज़ार से गुज़रा हूँ
01-Mar-2017 08:44 PM 482
बाज़ार से गुज़रा हूँ

जी सरकार, हमारे जैसे बिंदास बशर दुनिया में रहते तो हैं लेकिन उसके तलबगार नहीं होते। अकबर इलाहाबाद .. >>

चलो विलायत
01-Feb-2017 12:34 AM 623
चलो विलायत

आख़िर लोग यात्रा क्यों करते हैं? आराम से घर क्यों नहीं बैठते? लो यह भी कोई पूछने की बात है! यह तो .. >>

विमर्श (17)
वाल्मीकि रामायण : आधुनिक विमर्श-15पञ्चवटी
01-Mar-2017 08:41 PM 480
वाल्मीकि रामायण : आधुनिक विमर्श-15पञ्चवटी

चारू चन्द्र की चंचल किरणें, खेल रही है जल थल में, स्वच्छ चाँदनी बिछी हुई थी अवनि और अंबर तल में - .. >>

अमेरिकन-ऑस्ट्रेलियन संस्कृति के बिम्ब
01-Feb-2017 12:32 AM 587
अमेरिकन-ऑस्ट्रेलियन संस्कृति के बिम्ब

छब्बीस वर्ष पूर्व मैं भारत छोड़कर ऑस्ट्रेलिया आया था, यहाँ बस जाने के लिये। अपनी जड़ों से अलग होने .. >>

वाल्मीकि रामायण : आधुनिक विमर्श-15 दण्डकारण्य हिंदी अनुवाद : संजीव त्रिपाठी
01-Jan-2017 01:06 AM 1284
वाल्मीकि रामायण : आधुनिक विमर्श-15 दण्डकारण्य हिंदी अनुवाद : संजीव त्रिपाठी

रामायण की कहानी मुख्यतः तीन भोगोलिक भूभागों में बुनी गई है, उनमें से प्रथम है "अयोध्या" और उसका स .. >>

विशेष (16)
किंवदन्ती बन गई किताब
01-May-2016 12:00 AM 1234
किंवदन्ती बन गई किताब

कीसी भी हिंदी लेखक की पुस्तक के यदि तीन संस्करण यानि 1500 किताबें प्रका¶िात हो जाए तो उसका म .. >>

भारत-चीन व्यापार की सुदृढ़ होती डोर
01-Jan-2016 12:00 AM 218
भारत-चीन व्यापार की सुदृढ़ होती डोर

वर्तमान में चीन भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक मित्र है और भारत चीन का दसवां सबसे बड़ा व्यापारिक मित्र .. >>

उत्तर प्रदेश प्रवासी भारतीय दिवस यादगार होगा - अखिलेश यादव
01-Jan-2016 12:00 AM 167
उत्तर प्रदेश प्रवासी भारतीय दिवस यादगार होगा - अखिलेश यादव

प्रश्न : आगरा में 4 से 6 जनवरी 2016 को पहला "उत्तर प्रदेश प्रवासी भारतीय दिवस' मनाया जा रहा है। इ .. >>

शब्द चित्र (14)
होना शुरू होना
01-Feb-2017 12:28 AM 610
होना शुरू होना

सागर शहर की झील के किनारे नजरबाग की सीढ़ियों पर बैठा निर्मल वर्मा के निबन्धों की किताब -- शब्द और .. >>

घर सँवरने से दुनिया सँवरती है
01-Jan-2017 12:54 AM 1321
घर सँवरने से दुनिया सँवरती है

मेरा घर अब दोस्तों को अपने घर से दूर लगता है। मुझे बच्चे घर से दूर लगते हैं। मैं भी घर से कुछ दूर .. >>

तरक्की की राह पर दौड़ने के आशय
01-Jan-2017 12:47 AM 1256
तरक्की की राह पर दौड़ने के आशय

यहाँ कनाडा में हम साल में दो बार समय के साथ छेड़छाड़ करते हैं जिसे डे लाईट सेविंग के नाम से जाना जा .. >>

सम्पादकीय (13)
लोक-बोली के निहितार्थ
01-Mar-2017 07:58 PM 478
लोक-बोली के निहितार्थ

भारत में लोक शब्द बहुअर्थी है। यहां की पुराण कथाओं में चौदह लोकों की परिकल्पना की गई है। जिनमें प .. >>

अरे यायावर रहेगा याद
01-Feb-2017 12:00 AM 2429
अरे यायावर रहेगा याद

आज यात्राएं होती हैं पर वे पूंजी निवेश के लिये जितनी हैं उतनी शब्द निवेश के लिये नहीं। शब्द निवेश .. >>

वासी, प्रवासी, अप्रवासी
01-Jan-2017 12:00 AM 1254
वासी, प्रवासी, अप्रवासी

लगभग आधी सदी पहले राजकपूर अभिनीत एक फिल्म - जिस देश में गंगा बहती है बनी थी और उसका शैलेन्द्र का .. >>

शिकागो की डायरी (11)
ज्ञान का अद्भुत भंडार
01-Mar-2017 08:38 PM 479
ज्ञान का अद्भुत भंडार

पुस्तकालय की आदत बचपन में मम्मी-पापा ने लगायी थी। तब इतनी समझ नहीं थी। छोटी-छोटी किताबें जैसे चम् .. >>

शिकागो में रंगमंच की दुनिया
01-Dec-2016 12:00 AM 1267
शिकागो में रंगमंच की दुनिया

रंगमंच हमें सब कुछ बता सकता है। कैसे देवताओं का स्वर्ग में वास है और कैसे कैदियों की भूल भूमिगत ग .. >>

अफ्रीका घूमने का रोमांच
01-Nov-2016 12:00 AM 2061
अफ्रीका घूमने का रोमांच

अफ्रीका का नाम सुनते ही अभी भी बहुतों के मन में जंगली जीवन का दृश्य घूमने लगता है। कई सालों पहले .. >>

शायरी की बात (11)
तुम साथ हो तो घर की कमी फिर नहीं खलती
01-Mar-2017 12:11 AM 493
तुम साथ हो तो घर की कमी फिर नहीं खलती

कविता एक कोशिश करती है जीवन का चित्र बनाने की। अवनीश कुमार की किताब पत्तों पर पाजेब ऐसी ही एक कोश .. >>

मैं उस जगह हूँ जहाँ फासला रहे तुमसे
01-Feb-2017 01:02 AM 641
मैं उस जगह हूँ जहाँ फासला रहे तुमसे

जयपुर के लोकायत प्रकाशन पर जिस किताब पर मेरी नज़र पड़ी, वह थी आवाज़ चली आती है। इस नायाब किताब के शा .. >>

इस चमन के फूल को पत्थर न होने दीजिये
01-Dec-2016 12:00 AM 1275
इस चमन के फूल को पत्थर न होने दीजिये

ग़ज़ल को नए ढंग से परिभाषित करने वाले शायरों में जनाब प्रेमकिरण
साहब को बिलाशक शामिल किया जा .. >>

अनुवाद (10)
चीन के स्स चुआन प्रान्त के लोकगीत खानतिंग का हिंदी अनुवाद
01-Mar-2017 08:24 PM 480
चीन के स्स चुआन प्रान्त के लोकगीत खानतिंग का हिंदी अनुवाद

इस गीत का यह नाम खानतिंग शहर से रखा गया है। बहुत ही सुरीला ओर मीठा गीत होने के कारण बरबस ही दिल क .. >>

जाकोमो दा लेनतीनी की दो सॉनेट कविताओं का इतालवी से हिन्दी अनुवाद
01-Mar-2017 08:15 PM 479
जाकोमो दा लेनतीनी की दो सॉनेट कविताओं का इतालवी से हिन्दी अनुवाद

कविता की सॉनेट शैली का लेखन सबसे पहले दक्षिण इटली के सिसली द्वीप में तेरहवीं शताब्दी में हुआ। इसक .. >>

मानस प्रबंधन अंग्रेजी से अनुवाद राजेश करमहे भाग : तीन
01-Jul-2016 12:00 AM 1192
मानस प्रबंधन अंग्रेजी से अनुवाद राजेश करमहे भाग : तीन

सामान्य बोध में असामान्य क्या है?
1776 के आरम्भिक समय में, जब थॉमस पेन लोगों को प्रेरित कर र .. >>

कृति-स्मृति (10)
राम की शक्ति पूजा
01-Sep-2016 12:00 AM 2456
राम की शक्ति पूजा

है अमानिशा, उगलता गगन घन अन्धकार
खो रहा दिशा का ज्ञान, स्तब्ध है पवन-चार
अप्रतिहत गरज र .. >>

निःशस्त्र सेनानी
01-Sep-2016 12:00 AM 2431
निःशस्त्र सेनानी

सुजन, ये कौन खड़े हैं? बन्धु! नाम ही है इनका बेनाम।
कौन करते है ये काम? काम ही है बस इनका काम .. >>

सखि वे मुझसे कह कर जाते
01-Sep-2016 12:00 AM 2431
सखि वे मुझसे कह कर जाते

सखि, वे मुझसे कहकर जाते,
कह, तो क्या मुझको वे अपनी
पथ-बाधा ही पाते?
मुझको बहुत उन .. >>

संस्मरण (9)
फिजी में रामायण मेला
01-Feb-2017 12:22 AM 586
फिजी में रामायण मेला

भारत से लगभग बारह हजार किलोमीटर सुदूर पूर्व दिशा में बसे छोटे से फिजी द्वीप में, अक्तूबर 2016 में .. >>

एडिनबर्ग नहीं एडनबरा
01-Feb-2017 12:18 AM 609
एडिनबर्ग नहीं एडनबरा

विचार बना कि जब यॉर्क, यू.के. तक आ ही गये हैं तो दो दिनों के लिए ऐतिहासिक नगरी एडनबर्ग, स्कॉटलैंड .. >>

ऐतिहासिक शहरों की रोमांचक यात्रा
01-Feb-2017 12:15 AM 588
ऐतिहासिक शहरों की रोमांचक यात्रा

सेंट लुइस मिसौरी प्रान्त में एक बहुत बड़ा और खूबसूरत शहर है जो की मिसिसिप्पी नदी के किनारे पर है। .. >>

जन्नत की हकीकत (9)
लोक मतलब सामूहिकता और समानता
01-Mar-2017 08:34 PM 481
लोक मतलब सामूहिकता और समानता

सन् दो हजार में पहली बार अमरीका जाना हुआ। अमरीकी राज्य ज्योर्जिया की राजधानी अटलांटा की धरती पर प .. >>

देखणा सो भूलणा नहीं
01-Feb-2017 12:30 AM 617
देखणा सो भूलणा नहीं

जीव का मूल स्वभाव है जिज्ञासा। यह उसकी मूलभूत जैविक आवश्यकताओं के कारण भी हो सकती है और मानसिक व .. >>

अतियों के बीच झूलता अमरीकी समाज
01-Dec-2016 12:00 AM 1272
अतियों के बीच झूलता अमरीकी समाज

मूल रूप से अमरीकी समाज सनक की सीमा तक पहुंचा हुआ समाज है जिसकी अपनी कुंठाओं से मुक्ति नहीं हुई है .. >>

व्याख्या (7)
कस्मै देवाय हविषा विधेम?
01-Jul-2016 12:00 AM 1389
कस्मै देवाय हविषा विधेम?

भारतीय मानस की अनवरत् जिज्ञासा की कथा की यह कड़ी आधुनिक भारत में वैज्ञानिक विकास लिखने के क्रम में .. >>

कस्मै देवाय हविषा विधेम?
01-Jun-2016 12:00 AM 1389
कस्मै देवाय हविषा विधेम?

गर्भनाल पत्रिका, मई 2016 अंक में प्राचीन भारत में ज्ञान-विज्ञान की चर्चा करते हुए वैदिक युग की वै .. >>

बातचीत (7)
बर्लिन में भारतीय राजदूत श्री गुरजीत सिंह से शिक्षाविद् डॉ. राम प्रसाद भट्ट की बातचीत
01-Mar-2017 09:03 PM 480
बर्लिन में भारतीय राजदूत श्री गुरजीत सिंह से शिक्षाविद् डॉ. राम प्रसाद भट्ट की बातचीत

बर्लिन में भारत के राजदूत श्री गुरजीत सिंह 1980 से भारतीय विदेश विभाग में कार्यरत हैं। आपने मेयो .. >>

भारतवंशियों के दंश और पीड़ा को समझना होगा
01-Nov-2016 12:00 AM 2130
भारतवंशियों के दंश और पीड़ा को समझना होगा

भारतवंशी संस्कृति की अध्येता साहित्यकार प्रो. डॉ. पुष्पिता अवस्थी से आत्माराम शर्मा की बातचीत
.. >>

प्रख्यात साहित्यकार डॉ. सुधाकर अदीब से राजू मिश्र की बातचीत
01-Oct-2016 12:00 AM 2384
प्रख्यात साहित्यकार डॉ. सुधाकर अदीब से राजू मिश्र की बातचीत

किताब बचेगी तो ही भाषा बचेगी सुधाकर अदीब की पैदाइश उसी अयोध्या में है जहां मर्यादा पुरुषोत्तम भगव .. >>

वर्षा स्मृति (7)
वर्षा वर्णन
01-Jul-2016 12:00 AM 1176
वर्षा वर्णन

गोस्वामी तुलसीदास
प्रयाग के पास बाँदा जिले में राजापुर नामक गाँव में संवत् 1554 को जन्म। का& .. >>

काले बादल
01-Jul-2016 12:00 AM 1179
काले बादल

सुमित्रानंदन पंत
बीसवीं सदी का पूर्वाद्र्ध छायावादी कवियों का उत्थान काल था। उसी समय अल्मोड़ा .. >>

बादल राग
01-Jul-2016 12:00 AM 1225
बादल राग

सूर्यकांत त्रिपाठी "निराला'
वसंत पंचमी, 1896, मेदिनीपुर, प¶िचम बंगाल में जन्म। मुख्य कृ .. >>

स्वराज-स्मृति (7)
स्वाधीनता
01-Aug-2016 12:00 AM 145
स्वाधीनता

जिस प्रकार भी हो, हमें संघ को दृढ़प्रतिष्ठ और उन्नत बनाना होगा और इसमें हमें सफलता मिलेगी- अवशय मि .. >>

स्वराज्य
01-Aug-2016 12:00 AM 250
स्वराज्य

मेरे... हमारे... सपनों के स्वराज्य में जाति (रेस) या धर्म के भेदों का
कोई स्थान नहीं हो सकत .. >>

नियति से वादा
01-Aug-2016 12:00 AM 245
नियति से वादा

कई सालों पहले, हमने नियति के साथ एक वादा (Tryst with Destiny) किया था, और अब समय आ गया है कि हम अ .. >>

रपट (5)
अहमदाबाद इंटरनेशनल लिट्रेचर फेस्टिवल सम्पन्न
01-Dec-2016 12:00 AM 1226
अहमदाबाद इंटरनेशनल लिट्रेचर फेस्टिवल सम्पन्न

विगत 12-13 नवम्बर को अहमदाबाद इंटरनेशनल लिट्रेचर फेस्टिवल का आयोजन सफलतापूर्वक सम्पन्न हुआ। उद्घा .. >>

आधुनिक विमर्श के बहुआयामी सन्दर्भ
01-Dec-2016 12:00 AM 1225
आधुनिक विमर्श के बहुआयामी सन्दर्भ

लखनऊ एक्सप्रेशन द्वारा 18, 19 तथा 20 नवम्बर को लखनऊ शहर में आयोजित लिटरेचर फैस्टिवल साहित्यिक संप .. >>

बेलारूस में हिंदी समर कैंप
01-Aug-2016 12:00 AM 237
बेलारूस में हिंदी समर कैंप

छह से चौबीस जून 2016 तक "ज़ारनीत्सा" नामक समर कैंप सम्पन्न हुआ। बेलारूस के मिन्स्क नगर से 46 किलोम .. >>

स्मरण (4)
महात्मा गांधी चरित स्वयं ही काव्य
01-Oct-2016 12:00 AM 2455
महात्मा गांधी चरित स्वयं ही काव्य

भारत के हृदय प्रदेश के उज्जयिनी नगर निवासी यशस्वी कवि श्री शिवमंगल सिंह "सुमन" की नोटबुक में पण्ड .. >>

साबरमती के तट पर
01-Oct-2016 12:00 AM 2453
साबरमती के तट पर

साबरमती नदी के तट को सीमेंट का बना दिया गया है। दूर से देखने पर अब वह पेरिस की सेन नदी के तट की फ .. >>

स्मृतिगंधा
01-Apr-2016 12:00 AM 150
स्मृतिगंधा

जैसे पूरा यथार्थ आमने-साने की पहाड़ियों के बीच फैला है। एक पहाड़ी उजाले की दूसरी अंधेरे की। उजाले म .. >>

सिंगापुर की डायरी (4)
सिंगापुर के भारतवंशी
01-Nov-2016 12:00 AM 2055
सिंगापुर के भारतवंशी

वाणिज्यिक मार्ग के संगम पर बसा सिंगापुर मलाया द्वीप समूह को नापता हुआ भिन्न मूल के लोगों के प्रवा .. >>

सर्वज्ञता की खोज का मिशन
01-Aug-2016 12:00 AM 238
सर्वज्ञता की खोज का मिशन

आज़ादी के सही मायने आखिर हैं क्या? क्या सिर्फ नारे लगाने की छूट या बस अपने मन का करने की छूट को ही .. >>

मज़दूर दिवस बनाम प्रवासी मज़दूर
01-May-2016 12:00 AM 1135
मज़दूर दिवस बनाम प्रवासी मज़दूर

प्रवासी ¶ाब्द बड़ा मनमोहक है। सुनकर लगता है जैसे एक बड़ा तगमा जुड़ गया हो। सिंगापुर में भी प्रव .. >>

न्यूयॉर्क की डायरी (3)
भाषा की कशमकश
01-Dec-2016 12:00 AM 1249
भाषा की कशमकश

न्यूयॉर्क में प्रवासी भारतीयों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियाँ संचालित की जाती हैं। इसके लिय .. >>

साहित्य पढ़ने की उम्र
01-Nov-2016 12:00 AM 2063
साहित्य पढ़ने की उम्र

यह विचार कई दिनों से मेरे मन में आ रहा था कि साहित्य पढ़ने की क्या उम्र होनी चाहिए एवं किस उम्र मे .. >>

विश्व हिन्दी दिवस का आयोजन सम्पन्न
01-Feb-2016 12:00 AM 131
विश्व हिन्दी दिवस का आयोजन सम्पन्न

बैंक ऑफ बड़ौदा, न्यूयार्क द्वारा अपने परिसर में विगत 20 जनवरी को "वि?ा हिन्दी दिवस' का आयोजन किया .. >>

तथ्य (3)
प्रवासी जीवन पर पहली कहानी शूद्रा
01-Oct-2016 12:00 AM 2460
प्रवासी जीवन पर पहली कहानी शूद्रा

प्रेमचंद हिन्दी कहानी के इतिहास में अनेक नये विषयों, सम्वेदनाओं एवं प्रवृत्तियों के उद्भावक थे। उ .. >>

चीनी युवाओं में भारत का आकर्षण
01-May-2016 12:00 AM 1129
चीनी युवाओं में भारत का आकर्षण

सदियों से चीनी जनमानस के मनोमस्तिष्क में भारत वास करता आया है। भारत और चीन पिछले दो हजार से भी ज् .. >>

विदेशी छात्रों की कारकपरक त्रुटिया
01-Mar-2016 12:00 AM 136
विदेशी छात्रों की कारकपरक त्रुटिया

विदेशी छात्र एवं छात्राएं हिंदी सीखने के लिए भारत आते हैं अथवा अपने ही देश में हिंदी सीखते हैं, उ .. >>

नजरिया (3)
देशाटन का आनंद है अलग
01-Aug-2016 12:00 AM 230
देशाटन का आनंद है अलग

भारत की संस्कृति एक आत्मसंबद्ध निरंतर संस्कृति है इसलिए यहां का हर क्षेत्र सांस्कृतिक रूप से हर द .. >>

झूठ का समाजशास्त्र
01-May-2016 12:00 AM 1140
झूठ का समाजशास्त्र

कवि ¶ाुंतारी तानी कावा ने अपनी एक कविता में लिखा है : "कुछ बातें हम झूठ बोलकर ही कह सकते हैं .. >>

बिना सम्मान समता का मूल्य नहीं
01-Mar-2016 12:00 AM 115
बिना सम्मान समता का मूल्य नहीं

हमारा यह समय अन्याय चीजों के लिए जाना जायेगा। मसलन बाजार के घर के कोनों तक में घुस आने के लिए, बु .. >>

NEWSFLASH

हिंदी के प्रचार-प्रसार का स्वयंसेवी मिशन। "गर्भनाल" का वितरण निःशुल्क किया जाता है। अनेक मददगारों की तरह आप भी इसे सहयोग करे।

QUICKENQUIRY
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal | Yellow Loop | SysNano Infotech | Structured Data Test ^