btn_subscribeCC_LG.gif
भारतीय लोक कलाएँ रुचिकर हैं
01-May-2016 12:00 AM 2370     

आप सभी हिंदी प्रेमियों से अपने मन की बात करूं इससे पहले अपना परिचय देना चाहती हूँ। हालांकि नहीं जानती कि खुद अपने बारे में बात करना अच्छी माना जाता है या नहीं। मेरा नाम मिलेना वेस्लोव्सकाया है। मैं पूर्वी विभाग के दर्¶ान¶ाास्त्र वि·ाविद्यालय की छात्रा हूँ। मेरी रुचि हिंदी, संस्कृत, भारतीय इतिहास, साहित्य, दर्¶ान¶ाास्त्र, धर्म, संस्कृति और परंपराओं को सीखने में है। मेरा परिवार बड़ा नहीं है। उसमें माँ-बाप और नानीजी हैं। माँ-पिता काम करते हैं और नानीजी पें¶ान पाती हैं। मुझे साहित्य, इतिहास और विदे¶ाी भाषाएँ  सीखनी पसंद हैं। हिंदी सीखने के अलावा मैं स्पेनि¶ा भाषा सीख रही हूँ। अभी भी मुझे स्पेनि¶ा सीखना बहुत पसंद है।
एक दिन इंटरनेट पर मैंने एक उपन्यास की समीक्षा पढ़ी। यह समीक्षा उपन्यासकार क्ठ्ठद्धथ्दृद्म ङद्वत्द्म झ्ठ्ठढदृद की जासूसी कहानी पर थी। मैंने इस उपन्यास को रूसी भाषा में पढ़ लिया और इसके बाद इसे स्पेनि¶ा में पढ़ना चाहा। इसी तरह भारत घूमने के लिये मैंने हिंदी सीखी। मुझे बताया गया था कि भारत घूमने में हिंदी आना मददगार साबित होगा। अपनी इस यात्रा को लेकर हम सभी बहुत रोमांचित थे। भारत यात्रा के दौरान अपने सहपाठियों और हिंदी टीचर के साथ हम केरल और गुजरात प्रदे¶ा के विभिन्न क्षेत्रों में गये। इन प्रदे¶ाों की लोक-कला में मेरी बड़ी रुचि है। बचपन से ही मैं किताबें पढ़ना पसंद करती हूँ क्योंकि मेरे ख्याल में फ़ुरसत के समय को किताब पढ़ते हुए गुजारना सबसे अच्छी बात है। मैं अभी ¶ाुरूआती लेखिका हूँ और रोमांच की कहानियाँ दर्ज कर रही हूँ।
भारतीय इतिहास सीखते-सीखते मुझे मुग़ल बाद¶ााह अकबर का काल अच्छा लगता है क्योंकि उस वक्त दोनों कलाओं का मिलन हुआ, जो मुग़ल ¶ौली के तौर पर सामने आया। मैं सोचती हूँ कि अनेक कलाओं का मिलन सांस्कृतिक विकास की राह बनाता है।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^