btn_subscribeCC_LG.gif
अनुराधा महेंद्र
अनुराधा महेंद्र
मुंबई विशविद्यालय से एम.ए.। विश्व प्रसिद्ध कथाकारों की रचनाओं के आधा दर्जन से अधिक अनुवाद प्रकाशित। उनमें से प्रमुख हैं विश्व के अमर कथाकार, कहानियों से गुजरती बीसवीं सदी, एक स्त्री की जिंदगी के चौबीस घंटे, विश्व की श्रेष्ठ कहानियां, कायर, कालजयी कथाकार-चर्चित कहानियां। आईडीबीआई बैंक की तिमाही हिंदी पत्रिका का 20 वर्षों तक उप संपादन। अनेक पुरस्कारों से सम्मानित। संप्रति- आईडीबीआई बैंक में उप महा प्रबंधक।

बोलचाल बनाम कार्यालयीन हिंदी
भाषा और मनुष्य का आपसी संबंध कुछ इस प्रकार है कि एक के बिना दूसरे की कल्पना नहीं की जा सकती है। भाषा ही हमारे चिंतन, भाव-बोध, संप्रेषण संवाद का महत्वपूर्ण साधन है। हम न केवल भाषा के सहारे सोचते हैं किंतु समझते और समझाते भी हैं। भाषा के जिस रूप का
मुंबई की बरसात
इस साल जून के महीने में बरसात का कहीं नामोनिशाां नहीं दिखा। गरमी और पसीने से त्राहिमाम् करते लोगों को देखकर पिछले बरस की बरसात की शाुरूआत का खूबसूरत मंजर अनायास ही आंखों के आगे झूम उठता है। मई का महीना था, बरसात अभी शाुरू नहीं हुई थी। ऐसी ही एक शा
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^