btn_subscribeCC_LG.gif btn_buynowCC_LG.gif

अमेरिका में हिंदी-यूएसए का अभिनव प्रयोग
01-Jan-2016 12:00 AM 1104     

अमेरिका में हिंदी यूएसए के जरिये हिंदी के प्रचार- प्रसार से जुड़ने का विचार देवेंद्र सिंह की कल्पना में तक नहीं था। उनका बचपन भारत में बीता। पैंतीस वर्ष पहले जब वे पढ़ने के लिये अमेरिका पहुँचे तो वहाँ के वातावरण में अपने आप को व्यवस्थित करने में कुछ समय लगा। अमेरिका में लोगों की ईमानदारी और कार्य के प्रति निष्ठा और दक्षता ने उन्हें प्रभावित किया। पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी और विवाह के बाद उन्होंने अपने समवयस्क प्रवासी भारतीयों के बच्चों में भाषा और संस्कृति के विरोधाभाष देखे तो विचार आया कि यहाँ के वातावरण में बच्चों को पालने के लिए भाषा एवं संस्कृति का वातावरण बनाना आवश्यक है। शुरूआत हुई अपने बच्चों को बाल-विहार भेजने से। वहाँ उनकी पत्नी हिंदी पढ़ाती थीं। वे वहाँ प्रबंधन कार्यों में सहायता करने लगे। यहां हिंदी पढ़ाने का अनुभव अच्छा नहीं था। विद्यार्थियों में हिंदी के प्रति गंभीरता नहीं थी, क्योंकि हिंदी के अतिरिक्त भी वहाँ दूसरी गतिविधियाँ थीं और कार्यक्रम नि:शुल्क होने के कारण विद्यार्थियों में निरंतरता नहीं थी। कुछ वर्षों तक हिंदी पढ़ाने के बाद अनुभव हुआ कि भारत से पुस्तकें लाकर अमेरिका में जन्मे बच्चों को हिंदी नहीं पढ़ाई जा सकती। तो खुद ही हिंदी की पुस्तकें लिखने का निर्णय किया। पुस्तकें छपवाने के लिये धन का अभाव भी बड़ी बाधा थी। कार्यकर्ताओं की भी कमी थी। ऐसी ही तमाम अड़चनों से जूझते हुए 2001 में हिंदी एनजे (क्तत्दड्डत् ग़्ड्ढध्र् ख्ड्ढद्धद्मड्ढन्र्) की स्थापना हुई जो दो-तीन वर्षों में हिंदी यूएसए (क्तत्दड्डत् छच्ॠ) के रूप में विकसित हुई। अमेरिका में बहुतेरे प्रवासी भारतीय अपने बच्चों को हिंदी सिखाना चाहते और हिंदी यू.एस.ए. इन अभिभावकों और उनके बच्चों को समाधान उपलब्ध करवा रहा है। हिंदी यूएसए स्वयंसेवी संस्था के तौर पर काम कर रहा है। यह संस्था अमेरिका में चार हजार से अधिक विद्यार्थियों को नौ स्तरों में हिंदी की शिक्षा प्रदान कर रही है। यह अमेरिका में हिंदी के स्वयंसेवकों का सबसे बड़ा समूह है। इसका मुख्यालय न्यूजर्सी राज्य में है, लेकिन इसका विस्तार अमेरिका के अनेक राज्यों में आसानी से देखा जा सकता है। अनेकों संस्थाएँ, मंदिर और विभिन्न राज्यों के स्वयंसेवक हिंदी यू.एस.ए. से जुड़े हैं। इसका कोई सदस्यता शुल्क नहीं है। यह समूह अपने कार्यकर्ताओं के समर्पण और कार्यनिष्ठा के बल पर अपनी विशेष पहचान बनाने में सफल रहा है। संस्था में तीन सौ से अधिक शिक्षक-शिक्षिकाएँ, पचास अनुभवी स्वयंसेवक (पाठशाला संचालक, प्रबंधक तथा सहायक) तथा अस्सी युवा स्वयंसेवक तथा कक्षा सहायक कार्यरत हैं। यहां से पांच सौ से अधिक विद्यार्थी स्नातक हो चुके हैं। वर्तमान में हिंदी यूएसए की अड़तालीस साप्ताहिक पाठशालाएँ चलती हैं, जिनमें से सत्रह पाठशालाएँ पूर्ण रूप से हिंदी यूएसए द्वारा संचालित होती हैं और इकत्तीस सम्बद्ध पाठशालाएँ हैं जिन्हें अमेरिका के विभिन्न प्रांतों में स्थित कार्यकर्ता हिंदी यूएसए के सहयोग से चला रहे हैं। कक्षाएँ मुख्यत: शुक्रवार को संध्या सात बजे से रात्रि साढ़े आठ बजे तक चलती हैं और सितम्बर से लेकर जून माह तक अनवरत हिंदी शिक्षण का कार्य चलता है तथा जुलाई और अगस्त में ग्रीष्मकालीन अवकाश रहता है। यह अवकाश केवल विद्यार्थियों के लिए होता है, स्वयंसेवकों के लिए नहीं। गर्मी के महीनों में सभी कार्यकर्ता अपनी-अपनी हिंदी पाठशालाओं के प्रचार-प्रसार तथा नए विद्यार्थियों के पंजीकरण में व्यस्त रहते हैं। निदेशक मंडल भी अगले सत्र के कार्यक्रमों की तिथियाँ एवं रूपरेखा बनाने, संस्था को और अच्छा बनाने की नई योजनाएँ तैयार करने, पुस्तकों और पाठ¬क्रम में सुधार करने, कर्मठ हिंदी-प्रेमी कार्यकर्ता ढूँढने, नई शिक्षण सामग्री तैयार करने तथा भारत में मुद्रित पुस्तकों को मँगाने और उन्हें व्यवस्थित करने में निरंतर कार्यरत रहते हैं। प्रत्येक स्तर में विद्यार्थियों की उम्र तथा उनके हिंदी ज्ञान के अनुसार अलग-अलग पाठ¬क्रम निर्धारित किया गया है। प्रत्येक स्तर के लिए संस्था ने हिंदी यूएसए प्रकाशन की पाठ¬ पुस्तकें, अभ्यास पुस्तकें, श्रवण सी.डी. तथा क्रिया-कलाप पुस्तकें तैयार की हैं। ये पुस्तकें विदेशी विद्यार्थियों की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए तैयार की गई हैं। प्रत्येक स्तर में तीन से लेकर चार पुस्तकें और फ्लैश कार्डस होते हैं। हर साल हिंदी यूएसए शिक्षकों के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करता है तथा उसका मानना है कि हिंदी भाषा की जड़ें मजबूत करने एवं हिंदी को अमेरिका में स्थायी रूप से स्थापित करने में हिंदी भवन बहुत उपयोगी होगा। हिंदी भवन अमेरिका में हमारी एकता एवं अखंडता का प्रतीक होगा। संस्था "कर्मभूमि' नामक पत्रिका का प्रकाशन भी करता है तथा अमेरिका की भारतीय दुकानों के साइन बोर्डस् हिंदी में करवाने के लिए भी प्रयत्नशील है।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^