btn_subscribeCC_LG.gif
आलोक मिश्रा
आलोक मिश्रा
रायबरेली, उत्तर प्रदेश में जन्म। सहज कवि के तौर पर भाषायी स्नेह अभिव्यक्त करते हैं। रचनाएँ विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। सिंगापुर की हिंदी प्रेमी संस्थाओं से सम्बद्ध। सम्प्रति - सिंगापुर में शिपिंग इंडस्ट्री में कार्यरत।

गंगा के प्रति आस्था  बालगृह
गंगा के प्रति आस्था आस्था के प्रदर्शन में अब बदलाव होना चाहिए पुष्प, दीप, वस्त्र के विसर्जन का रुकाव होना चाहिए।विसर्जित पुष्प, दीप, वस्त्र आखिर जाते कहाँ हैंइस तथ्य पर भी तो गहन विचार होना चाहिए।
गीत लिखूं मैं ऐसा मेघा ऐसे बरसो तुम
इक गीत लिखूँ मैं ऐसा कल-कल झरने जैसा।दिल में सोयी आग जला देपरिवर्तन का बिगुल बजा देनिज हाथों किस्मत लिखने कामन में दृढ़ संकल्प जगा देपावन गीता के जैसा, मीरा भक्ति के जैसाइक गीत लिखूँ मैं ऐसा।पत्थर दिल को मो
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^