btn_subscribeCC_LG.gif
अलका प्रमोद
अलका  प्रमोद

18 जुलाई को लखनऊ में जन्म। वनस्पति विज्ञान में एमएससी, पत्रकारिता तथा वेब डिजाइनिंग में डिप्लोमा। प्रकाशित कृतियाँ - कहानी संग्रह : सच क्या था, धूप का टुकड़ा, समान्तर रेखाएं, स्वयं के घेरे तथा रेस का घोड़ा। उपन्यास : यूं ही राह चलते-चलते। बाल कहानी-संग्रह : मशीनी जिन्न। बाल काव्य-संग्रह : नन्हे फरिश्ते तथा चुलबुल-बुलबुल। हिन्दी संस्थान, उत्तरप्रदेश, शब्द निष्ठा सम्मान, जयपुर, भारती शिखर सम्मान, प्रयाग तथा साहित्य सर्जन शिखर सम्मान, इलाहाबाद से सम्मानित सम्प्रति ः उ.प्र. पॉवर कारपोरेशन में अनु सचिव।


भारत की राज भाषा का संदर्भ
स्वतंत्रता के बाद प्रश्न उठा कि हमारे देश की एक राजभाषा क्या हो? स्वाभाविक है कि बहुभाषी देश के लिये किसी एक ऐसी भाषा का चयन करना था जो सर्वसम्मति से स्वीकार हो, ग्राह्य हो और राजकाज करना संभव हो। गहन विचार-विमर्श के पश्चात हिन्दी को चुना गया, क्य
उत्तर भारत की लोक कथाओं के संदर्भ
लोक कथाएं हमारी संस्कृति, परम्पराओं और नित्य की जीवन शैली में इस प्रकार रची बसी हैं कि उनसे अपनी धरती की सोंधी मिट्टी की सुगंध, मधुर बयार की ताजगी, कलकल करती नदियों की शीतलता और गुनगनी धूप की गर्माहट अनुभव की जा सकती है। लोेक कथाएं अनादिकाल से मौख
QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 19.09.26 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^