ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
आत्म-कथ्य Next
सफ़र जारी है, दुश्मनो-यारो!

साहित्य की चादर लम्बी थी मैंने व्यंग्य के फटे में टांग अड़ा दी। हरिशंकर परसाई, शरद जोशी, श्रीलाल शुक्ल, शंकर पुणताम्बेकर, अशोक शुक्ल, श्रीकांत चौधरी व अन्य कई लेखकों की रचनाएँ व पुस्तकें ढूंढ-ढूंढ क

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal - Version 12.00 Yellow Loop SysNano Infotech Structured Data Test ^