ISSN 2249-5967

 

सुषमा शर्मा

सम्पादक
राकेश खंडेलवाल
राकेश खंडेलवाल
18 मई 1953 को भरतपुर, राजस्थान में जन्म। अप्रतिम गीतकार के तौर पर ख्याति। रचनाएँ अनेक पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित। काव्य संग्रह- अमावस का चाँद, अँधेरी रात का सूरज, वैराग से अनुराग तक (पाँच कवियों का सम्मिलित काव्य संग्रह) तथा धूप गंध चाँदनी प्रकाशित। सम्प्रति - अमेरिका में निवास।
, , America
मन व्यथित मेरे प्रवासी गीत में जो ढल रहा है
01-Feb-2017 12:40 AM 643 मन व्यथित मेरे प्रवासी  गीत में जो ढल रहा है

मन व्यथित मेरे प्रवासी

आज फिर इस धुन्ध में डूबी हुई स्मॄति के किनारे
किसलिये तू आ गया है? ओढ़ कर बैठा उदासी

स्वप्न की चंचल पतंगों का अभी तक कौन धागा

NEWSFLASH

हिंदी के प्रचार-प्रसार का स्वयंसेवी मिशन। "गर्भनाल" का वितरण निःशुल्क किया जाता है। अनेक मददगारों की तरह आप भी इसे सहयोग करे।

QUICKENQUIRY
Related & Similar Links
Copyright © 2016 - All Rights Reserved - Garbhanal | Yellow Loop | SysNano Infotech | Structured Data Test ^